सावधान; ठगों का भी मंच बना सोशल मीडिया

सोशल व इलैक्ट्रॉनिक मीडिया यानि संचार के आधुनिक साधनों का उपयोग अब शातिर ठग भी करने लगे हैं। ऐसे शातिर ज्यादातर विदेशी हैं लेकिन कुछ भारतीयों के भी इस तरह की ठगी में शामिल होने से इंकार नहीं किया जा सकता।

ये शातिर पहले तो फेसबुक, लिंक्डइन, ईमेल जैसी सोशल साइट पर दोस्ती करते हैं। ज्यादातर ये विपरीत लिंगी बनकर दोस्ती करते हैं, यानि महिला से पुरुष ठग और पुरुष से महिला ठग दोस्ती करती है।

कुछ दिन दोस्ती चलने के बाद महिला ठग अपने पुरुष दोस्त को अपने बोल्ड फोटो भेजती हैं, मोबाइल व वाटसएप पर सेक्सी बातें करने लगती हैं। जब भारतवासी उनके जाल में फंसता दिखता है तो कभी अपनी कोई गंभीर समस्या बताकर आर्थिक मदद मांगती हैं।

कुछ महिलाएं अपने मित्र से मिलने, कुछ दिन उसके साथ रहने और मौजमस्ती करने की बात कर भारत आने की बात करती हैं। भारत आने पर कहती हैं एयरपोर्ट पर पकड़ी गई, छुड़वाने को ….. इतने रुपए भेजो क्योंकि, उसके पास तो डॉलर हैं जो एयरपोर्ट से बाहर आने पर ही नोटों में बदल सकेंगे। इस झांसे में आया व्यक्ति नोट भेजने के बाद समझ पाता है कि, वह ठगा गया।

दरअसल, न कोई महिला विदेश से आती है, न एयरपोर्ट पर पकड़ी जाती है, यह तो तरीका है ठगी का।
एक तरीका व्यापार में कई गुना फायदा दिखाकर लूटने का भी है। ऐसे कुछ और भी तरीके हो सकते हैं जो रापाज न्यूज को पता न चले हों।

दूसरी तरफ भारतीय शिकार अगर महिला होती है तो कथित विदेशी दोस्त उसे कोई महंगी विदेशी वस्तु कम कीमत में या उपहार स्वरूप फ्री में भेजने की बात करता है।योजनानुसार उसका पैकेट अक्सर एयरपोर्ट पर पकड़ा जाता है, तब उसे छुड़ाने के लिए भारतीय महिला से कुछ रुपए जमाकर पैकेट लेने को कहा जाता है। रुपए देने पर महिला को पता चलता है कि, उसके साथ क्या हुआ।

ऐसा ही ताजा मामला छत्तीसगढ़ के महासमुंद में सामने आया है। फेसबुक पर यहां की एक महिला से दोस्ती करने वाले शातिर बदमाश ने महिला को झांसा देकर तकरीबन 5 लाख रुपए ठग लिए। ठग ने महिला को गिफ्ट में सामान भेजने का पहले झांसा दिया फिर एयरपोर्ट पर क्लीयरेंस के नाम पर दो अलग-अलग किश्तों में महिला से अपने अकाउंट में रकम जमा कराई।

दो बार रकम लेने के बाद जब फिर उसने महिला से पैसों की मांग की फिर महिला को जालसाजी का शक हुआ। तब महिला ने पुलिस से पूरे मामले की शिकायत की। इस पर सिविल लाइन पुलिस ने दो आरोपियों पर 420 का मामला दर्ज कर लिया है।

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक एलआईजी 165 सेक्टर-02 शंकरनगर की रहने वाली अन्नामा लकड़ा ढीढी जिला परिवहन कार्यालय महासमुंद में कंप्यूटर ऑपरेटर के पद पर कार्यरत है।

अगस्त-2019 में एलेक्स एंटोनी नामक एक शख्स से अन्नामा की फेसबुक में दोस्ती हुई थी।

फेसबुक पर ठग ने महिला को जूते, बैग एवं अन्य सामान को पार्सल कर गिफ्ट में भेजने का झांसा दिया फिर ठग ने पीड़ित महिला को कॉल कर एयरपोर्ट क्लीयरेंस के नाम पर महिला से पहले 5 लाख, 10 हजार रुपए अलग-अलग बैंक खाते में जमा करवा लिये।
बताया जा रहा है की ठग ने पार्सल में बड़ा सामान होने की बात कही फिर ठग ने महिला से पैसों की मांग की फिर महिला को ठग की बात पर शक हुआ।

पीड़ित महिला ने तुरंत पुलिस से मामले की शिकायत की पीड़िक महिला की शिकायत पर सिविल लाइन पुलिस ने एलेक्स एंथोनी और अनीता नाम के दो लोगों पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया है।

कहा जा रहा है कि जिस पैटर्न पर ठगी की गई है, शक नाइजीरियन गैंग पर किया जा रहा है फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।


आपको यह खबर कैसी लगी, कृपया नीचे कमेंट बॉक्स में अपनी राय बताऐं. [][] देश दुनियां की ऐसी ही खबरों से हमेशा अपडेट रहने के लिए कृपया यहां दिख रहा Allow या Follow का बटन दवाऐं अथवा लाल घंटी बजाऐं. धन्यवाद
loading...
News Reporter
इस वेबसाइट व यू ट्यूब चैनल के लगभग सभी खबरें तथा वीडियो आदि Dailyhunt, Google News, NewsDog, NewsPoint एवं UC News पर भी उपलब्ध हैं इसमें ज्यादातर चित्र सांकेतिक रहते हैं तथा इंटरनेट व सोशल मीडिया से उपयोग किए जाते हैं, इसलिए हम किसी कॉपीराइट का दावा नहीं करते. सम्पर्क: Mobile / WhatsApp : 91-9993069079 E-Mail : rapaznewsco@gmail.com
loading...
loading...
Join Group