Recent News
अब नहीं होगी WhatsApp ग्रुप एडमिन की गिरफ्तारी; सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला

मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम, 2000 की धारा 66 A के तहत आपत्तिजनक सोशल मीडिया पोस्ट लिखने पर गिरफ्तारी का नियम हटा दिया है. एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाया.

नई दिल्ली। वाट्सएप एक ऐसा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है जिसका इस्तेमाल आज के समय में लगभग हर कोई कर रहा है. कई बार पर ग्रुप में आपत्तिजनक पोस्ट आने पर एडमिन की गिरफ्तारी तक हो जाती थी लेकिन अब ऐसा नहीं हो सकेगा. सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को बड़ा फैसला सुनाते हुए सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम, 2000 की धारा 66 A को अप्रभावी कर दिया है. दरअसल धारा 66 A ऐसा नियम है जो पुलिस को सोशल नेटवर्किंग साइटों पर कथित रूप से ‘आपत्तिजनक सामग्री’ पोस्ट करने पर एक व्यक्ति को गिरफ्तार करने का अधिकार देता है.

एक जनहित याचिका की सुनवाई करते हुए जस्टिस जे चेलमेश्वर और आएएफ नरीमन की खंडपीठ ने महत्वपूर्ण फैसला देते हुए इस धारा को मौलिक अधिकारों का उल्लंघन करने वाला बताया है. साथ ही इस धारा को अभिव्यक्ति की आजादी का अधिकार छीनने वाला भी बताया. इसलिए इस धारा को गैरकानूनी बताते हुए तत्काल प्रभाव से इसे अप्रभावी कर दिया.

फैसला सुनाते हुए की यह अहम टिप्पणी:
जस्टिस जे चेलमेश्वर और जस्टिस फली नरीमन की शीर्ष अदालत की पीठ ने कहा- “आईटी अधिनियम की धारा 66-ए पूरी तरह से समाप्त हो गई है. हमारा संविधान विचार, अभिव्यक्ति और विश्वास की स्वतंत्रता प्रदान करता है. लोकतंत्र में इन मूल्यों को संवैधानिक योजना के तहत प्रदान किया जाना है.” हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने आईटी अधिनियम के दो अन्य प्रावधानों को रद्द करने से इनकार कर दिया, जो वेबसाइटों को अवरुद्ध करते हैं.
रिपोर्ट: सुमन भटनागर

दोस्तों, यह आर्टीकल आपको कैसा लगा, कृपया नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर बताऐं. अगर आप ऐसी ही खबरें तत्काल पाना चाहें तो कृपया ऊपर फॉलो का बटन दवाऐं या नीचे लाल घंटी बजाऐं. वाट्सएप पर खबरें पढ़ने के लिए हमारा नम्बर 9993069079 अपने वाट्सएप ग्रुप में जोड़ें. धन्यवाद.

loading...
News Reporter
इस वेबसाइट व यू ट्यूब चैनल के लगभग सभी खबरें तथा वीडियो आदि Dailyhunt, Google News, NewsDog, NewsPoint एवं UC News पर भी उपलब्ध हैं इसमें ज्यादातर चित्र सांकेतिक रहते हैं तथा इंटरनेट व सोशल मीडिया से उपयोग किए जाते हैं, इसलिए हम किसी कॉपीराइट का दावा नहीं करते. सम्पर्क: Mobile / WhatsApp : 91-9993069079 E-Mail : rapaznewsco@gmail.com
loading...
loading...
Join Group