Recent News
आधी रात को मंत्री जी पहुंचे गलियों में

ग्वालियर. पीले और गंदे पानी को लेकर मचे हाहाकार के बीच जनप्रतिनिधि और राजनीतिक दल भी सक्रिय हो गए हैं। माकपा और कांग्रेस पार्षदों के बाद खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने भी नगर निगम के अधिकारियों की धड़कनें बढ़ा दी हैं। मंत्री तोमर रविवार को आधी रात अपनी विधानसभा क्षेत्र में निकले और पानी का जायजा लिया।

उधर इससे पहले रविवार को ही दोपहर में निगमायुक्त संदीप माकिन ने भी पीएचई और अमृत योजना से जुड़े अधिकारियों की बैठक लेकर कड़े शब्दों में फील्ड में जाने और समस्याएं निपटाने को कहा। आयुक्त ने ऐसा न करने पर जन प्रतिनिधियों व आम जनता के आक्रोश का सामना करने को भी कहा। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि, यदि कोई उनके पास आया तो संबंधित अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई को मजबूर होना पड़ेगा।

उपनगर ग्वालियर में सालों से गंदे, पीले और कम दबाव से पानी सप्लाई की समस्या है। मालूम हो कि, भाजपा सरकार के दौरान पूर्व विधायक प्रद्युम्न सिंह तोमर (अब मंत्री) ने इस मुद्दे कई आंदोलन भी किए थे, जेल भी गए थे।

कांग्रेस सरकार आते ही वह मंत्री बन चुके हैं लेकिन समस्या अब भी बनी हुई है इसलिए जनता उनके दरवाजे पहुंच रही है। उन्होंने पहले भी निगम अधिकारियों को निर्देश दिए लेकिन समस्या बनी रही। पिछले कुछ समय से स्थिति और बिगड़ी है। इसलिए वे आधी रात को क्षेत्र में जा पहुंचे। बाबा कपूर, काशी नरेश की गली से होते हुए वे जहांगीर कटरा क्षेत्र में पहुंचे। इस क्षेत्र में आधी रात को पानी सप्लाई होता है। कुछ लोगों ने पीले पानी की शिकायत की, लेकिन पिछले दिनों की तुलना में पीलापन कम भी बताया।

निगम अधिकारियों को जब पता चला कि मंत्री तोमर रात में निरीक्षण पर जाएंगे तो रविवार की सुबह से ही निगम प्रशासन हरकत में आ गया। निगमायुक्त ने दोपहर में पीएचई और अमृत योजना से जुड़े अधिकारियों की बैठक लेकर कह दिया कि उन्होंने आपको काफी समय दे दिया। अब सीमा पार हो चुकी है। कुछ पार्षदों ने उन्हें सीवर और पानी की समस्या बताई है। वे उनसे तीन-तीन बड़ी समस्याएं पूछे और एक सप्ताह में उनका निदान करें।

निगमायुक्त ने ठेकेदारों को भी चेतावनी दे दी कि वे ढंग से काम करें। खुदाई के बाद रेस्टोरेशन करें और अपनी देखरेख में लाइनों का मिलान कराएं। अधिकारियों से कहा कि लाइनों में गंदा पानी नहीं पहुंचना चाहिए। हालांकि मंत्री के निरीक्षण में वरिष्ठ अधिकारी नहीं पहुंचे लेकिन उनकी नींद उड़ी रही।

यह भी पढ़ें:

मुरार में भी समस्या: पेय जल की समस्या केवल मंत्री तोमर के विधान सभा क्षेत्र में ही नहीं, दूसरे क्षेत्रों में भी है। मुरार के वार्ड 60 के अंतर्गत आनेवाले मेहरागांव के कुछ लोगों ने पिछले दिनों क्षेत्रीय विधायक मुन्नालाल गोयल को भी समस्या से अवगत कराया है। अधिकारियों को भी जानकारी दी जा चुकी है। खबर है कि, यहां मुस्लिम व एससी – एसटी वर्ग के लोग परेशान होते हैं, जबकि अन्य पानी की कमी होने पर विभागीय अधिकारियों से साठगांठ के चलते टैंकर मंगवा लेते हैं।

दोस्तों, रापाज न्यूज की सभी नई खबरें तत्काल पाने के लिए ऊपर फॉलो का बटन दवाऐं या नीचे लाल घंटी बजाकर Subscribe करें अथवा ALLOW पर दो बार क्लिक करें. वाट्सएप पर खबरें पढ़ने के लिए हमारा नम्बर 9993069079 अपने मोबाइल में सेव करके Hi या Hello करें. इसे अपने वाट्सएप ग्रुप में भी जोड़ सकते हैं. यह सब बिलकुल मुफ्त है. धन्यवाद.

loading...
News Reporter
इस वेबसाइट के लगभग सभी आलेख व खबरें Dailyhunt, Google News, NewsDog, NewsPoint एवं UC News पर भी उपलब्ध हैं. ज्यादातर चित्र सांकेतिक रहते हैं तथा इंटरनेट के उपयोग किए जाते हैं, इसलिए किसी कॉपीराइट का दावा नहीं है. सम्पर्क: Mob : 91-9993069079 WhatsApp : 91-7974827087 E-Mail : rapaznewsco@gmail.com
loading...
loading...
Join Group