Recent News
शिवराज सरकार बनते ही एमपी में किसानों का दमन आरंभ, विरोध में कांग्रेस के साथ आए भाजपाई

तहसीलदार ने निर्वस्त्र कर पीटा किसान, कमलनाथ ने दी चेतावनी

मध्यप्रदेश में चम्बलांचल के श्योपुर जिले में तहसीलदार द्वारा गेहूं बेचने गए किसान को निर्वस्त्र कर मारपीट का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने किसानों पर डंडे बरसाने वाले अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने उचित कार्रवाई ना होने पर सरकार के खिलाफ सड़क पर उतरने की चेतावनी दी है।

दूसरी तरफ जिले में कांग्रेस के साथ ही भाजपा नेताओं ने भी जिले के बड़ौदा में पदस्थ तहसीलदार शिवराज मीणा के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। सभी नेताओं ने तहसीलदार के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की है। तहसीलदार के खिलाफ शिकायतें श्योपुर कलेक्टर से लेकर भोपाल और मानव अधिकार आयोग तक पहुंच चुकी हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि शिवराज जी आपकी एक माह की सरकार में ही प्रदेश में किसानो का दमन प्रारंभ हो गया है। आपकी पूर्व की सरकार में अपना हक मांग रहे निर्दोष किसानों के सीने पर किस प्रकार गोलियां दागी गयी, उनके कपड़े उतारकर उन्हें थानो में बंद किया गया, उनका किस प्रकार दमन किया, यह पूरे प्रदेश ने देखा है।

कमलनाथ ने यह भी कहा कि, आपकी वर्तमान सरकार के एक माह में ही किसानों पर दमव दोहराने का काम फिर से किया जा रहा है। पूर्व में जबलपुर में एक किसान की पुलिस पिटाई से हुई मौत की घटना और अब श्योपुर जिले के सलमान्या सायलो गेहूँ खऱीदी केन्द्र पर अन्नदाता किसानो पर अधिकारियों द्वारा बेरहमी से लाठीचार्ज व दमन की घटना इसका ज्वलंत उदाहरण है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस किसान भाइयों का दमन बर्दास्त नहीं करेगी, वह सड़क से सदन तक इसके विरोध में लड़ाई लड़ेगी। श्योपुर घटना के दोषी अधिकारियों पर अविलंब कड़ी से कड़ी कार्यवाही हो, घायल किसान का समुचित इलाज सरकार कराये और खरीदी केंद्रो पर अव्यवस्था तत्काल दूर की जाये, कांग्रेस आपसे यही माँग करती है।

मालूम हो कि, बीते रोज सलमान्या साइलो सेंटर पर गेहूं बेचने के लिए चार दिन से कतार में लगे पाण्डोला के किसान रमेश पुत्र सीताराम सुमन का जैसे ही गेहूं तौलने का नंबर आया तो उसका गेहूं सैंपल में फेल कर दिया गया। जब वह इसकी शिकायत लेकर तहसीलदार शिवराज मीणा के पास लेकर पहुंचा तो तहसीलदार ने उसके हाथ व पांवों में डंडे मार दिए थे। इस घटना के बाद बड़ौदा तहसीलदार को चौतरफा नाराजगी व आक्रोश का सामना करना पड़ रहा है।

घायल किसान को लेकर कुछ नेता पाण्डोला चौकी पहुंचे और तहसीलदार पर एफआईआर की मांग की लेकिन, चौकी पर तहसीलदार के खिलाफ आवेदन तक नहीं लिया गया। इसके बाद भाजपा नेता किसान को लेकर कलेक्टोरेट व एसपी कार्यालय पहुंचे जहां, उन्हें जांच का भरोसा देकर लौटा दिया गया।

याद हो कि, शिवराज सिंह के दूसरे मुख्यमंत्रित्व काल में भी प्रदेश में जगह – जगह से किसानों पर दमन की खबरें सुर्खियों में रही थीं।

 

देश – दुनियां की ऐसी ही चटपटी, सनसनीखेज, बिंदास, सच्ची और विचारोत्तेजक खबरों / वीडियो तथा कैरियर सम्बंधी जानकारी आदि से हमेशा अपडेट रहने के लिए कृपया यहां दिख रहा Allow या Follow का बटन दवाऐं अथवा लाल घंटी बजाऐं. जब चाहें दोबारा ऐसा कर आप अनअपडेट भी हो सकते हैं.

loading...
News Reporter
इस वेबसाइट व यू ट्यूब चैनल के लगभग सभी खबरें तथा वीडियो आदि Dailyhunt, Google News, NewsDog, NewsPoint एवं UC News पर भी उपलब्ध हैं इसमें ज्यादातर चित्र सांकेतिक रहते हैं तथा इंटरनेट व सोशल मीडिया से उपयोग किए जाते हैं, इसलिए हम किसी कॉपीराइट का दावा नहीं करते. सम्पर्क: Mobile / WhatsApp : 91-9993069079 E-Mail : rapaznewsco@gmail.com
loading...
loading...
Join Group