जमीन के नीचे दबा था यहां सदियों पुराना मंदिर

चम्बल अंचल को दस्यु समस्या के लिए पहचाना जाता है। लेकिन इसकी एक पहचान धार्मिक भी है। इस अंचल के लोग जितने लड़ाकू और साहसी हैं, उतने ही धार्मिक भी। सोमवार को खुदाई के दौरान जमीन के नीचे मिले एक मंदिर से फिर इसका जीता जागता उदाहरण सामने आया है।

जानकारी के अनुसार ग्वालियर से सटे चम्बलांचल के भिंड़ जिलान्तर्गत गोहद तहसील में गोहद नगर पालिका क्षेत्र में ही पार्क का निर्माण किया जाना है। इसके लिए प्रस्तावित स्थल पर खुदाई का कार्य चल रहा है। इस दौरान सोमवार को मजदूरों को एक ऐतिहासिक मंदिर मिला है। इस मंदिर की नक्काशी देखकर हर कोई हैरान है।

फिलहाल यह जानकारी नहीं मिल पाई है कि यह मंदिर कितना पुराना है। लेकिन इतना तय माना जा रहा है कि, यह मंदिर सदियों पुराना है, तभी तो वह वह धूल मिट्टी के नीचे दब सका।

बताया गया है कि, यहां जेसीबी से सफाई के दौरान सफाई की जा रही थी। पुरातत्व विभाग के अधिकारियों को इस ऐतिहासिक स्थल के बारे में सूचित कर दिया गया है। दूसरी तरफ कुछ स्थानीय लोगों के मुताबिक बीते समय में इस स्थल पर राजा-महाराजाओं के घोड़े बांधे जाते थे, लेकिन इसकी अभी तक पुरातत्व विभाग ने ऐसी कोई पुष्टि नहीं की है।

देश – दुनियां की ऐसी ही चटपटी, सनसनीखेज, बिंदास, सच्ची और विचारोत्तेजक खबरों / वीडियो तथा कैरियर सम्बंधी जानकारी आदि से हमेशा अपडेट रहने के लिए कृपया यहां दिख रहा Allow या Follow का बटन दवाऐं अथवा लाल घंटी बजाऐं. जब चाहें दोबारा ऐसा कर आप अनअपडेट भी हो सकते हैं.

loading...
News Reporter
इस वेबसाइट व यू ट्यूब चैनल के लगभग सभी खबरें तथा वीडियो आदि Dailyhunt, Google News, NewsDog, NewsPoint एवं UC News पर भी उपलब्ध हैं इसमें ज्यादातर चित्र सांकेतिक रहते हैं तथा इंटरनेट व सोशल मीडिया से उपयोग किए जाते हैं, इसलिए हम किसी कॉपीराइट का दावा नहीं करते. सम्पर्क: Mobile / WhatsApp : 91-9993069079 E-Mail : rapaznewsco@gmail.com
loading...
loading...
Join Group