लूटने के लिए महिला को बनाते हैं चारा, फिर होता हनीट्रेप गेम

कार्यालय प्रतिनिधि /  मध्यप्रदेश में तकरीबन दो साल से हनीट्रेप की काफी चर्चा है। दो साल पहले एक युवा विधायक और पत्रकारिता की छात्रा के कथित अवैध रिश्ते और उनके बीच हुए लाखों के लेनदेन के चलते “हनीट्रेप” अत्यधिक चर्चा में आया था. कुछ माह बाद युवक से विधायकी चली गई, छात्रा की भी संदिग्ध हालातों में मौत हो गई और मामला पुरानी बात हो गया.  MP की सियासत में सेक्स और ब्लैकमेलिंग से तहलका मचाने वाली युवती की UP में संदिग्ध मौत

किंतु, अभी लगभग एक-डेढ़ माह पहले मप्र के भोपाल-इंदौर में हुए इस हनीट्रेप नाम के बम बिस्फोट ने पूरी दुनियां में तहलका मचा दिया. न केवल विधायक-छात्रा का मामला ही याद दिलाया बल्कि, दो-तीन दशक पहले इंग्लैंड सरकार को गिराने वाली भारतवंशी पामेला बोर्डेस और मप्र की सत्ता व सियासत को हिला देने वाली राेमा और संघ के नेता संजय जोशी के सीडी कांड की भी याद दिला दी.  Honey Trap; याद आई पामेला और रोमा जैैसी हसीनाऐं

हनीट्रेप के इन मामलों में एक बात सामान्य है कि, जब तक संभव हुआ शिकार बने व्यक्ति ने उफ तक न की. शायद इसी हालत को हथियार बनाकर लुटेरों के कुछ ऐसे गिरोह बन गए जिनके लिए ‘हनीट्रेप’ का मतलब ही महिला सम्बंधों के नाम पर पुरुषों को लूटना है. हाल ही में ऐसे कई मामले सामने आए हैं.

कुछ दिन पहले ही आपको एक खबर दी गई थी कि, ग्वालियर निवासी एक युवती ने किस तरह षडयंत्रपूर्वक मोबाइल पर भिंड के एक युवा व्यापारी से दोस्ती की, उसे ग्वालियर बुलाया, होटल में ले गई, उसके साथ सम्बंध बनाए और युवती के साथियों ने वीडियो बना लिया. इसके बाद शुरू हुआ उसे लूटना. अब पढ़िए कुछ इससे मिलती – जुलती तो कुछ अलग सी भी, एक और खबर.  हनीट्रेप में फंसाने व्यापारी से की दोस्ती, होटल में बुलाया और वीडियो भी बनाया

जानकारी के अनुसार यूपी में मथुरा जनपद के मगौर्रा थाना क्षेत्र निवासी एक सेवानिवृत अधिकारी उयवीर सिंह से सुनीता नामक महिला ने सम्पर्क किया. अभी दोनों का ठीक से परिचय भी न हुआ था कि, सुनीता के साथियों ने उदयवीर को उससे सम्बंधों के लिए बदनाम करने की धमकी देकर दो लाख रुपए ऐंठ लिए.

उदयवीर सिंह ने उस समय तो अपने किसी परिचित से मंगवाकर यह रकम दे दी, लेकिन बाद में 13 जनवरी को मामले की रपट भी पुलिस में दर्ज करा दी. पुलिस ने गुरुवार को सुनीता पत्नी कृष्ण गोपाल को गिरफ्तार कर लिया. उससे छ: हजार रुपए भी बरामद हुए, शेष चार हजार वह खर्च कर चुकी थी. आश्चर्य की बात यह सामने आई कि, इस मामले में शिकार का चारा बनने वाली इस महिला के हिस्से में केवल दस हजार रुपए ही आए थे.

अब पुलिस इस मामले में अन्य छ: – सात आरेपियों की तलाश तर रही है. जानकारी के अनुसार यह लुटेरों का एक संगठित गिरोह है. भिंड और मथुरा की इन घटनाओं से पता चलता है कि, हनीट्रेप के मामले में लुटेरे अब झूठा भी फंसाने लगे हैं. कुछ महिलाओं ने भी इसे कमिया का सरल व सुविधाजनक तरीका समझ लिया है.

साथ ही साबित यह भी होता है कि, देर चाहे हो जावे बचता कोई नहीं- चाहे भारत हो या लंदन, चाहे इंदौर – भोपाल हो या भिंड – मथुरा.

क्या था संजय जोशी सीडी कांड


करीब डेढ़ दशक पहले जब भाजपा की उमा भारती मप्र की सीएम बनी थीं, लेकिन कर्नाटक मे किसी अदालती मामले के चलते वह स्व बाबूलाल गौर को सीएम की कुर्सी सौंपते हुए इस्तीफा देकर कर्नाटक चली गई थीं.

जब वह कर्नाटक जा रही थीं, उसी समय भोपाल में संघ (आरएसएस) नेता और भाजपा के राष्ट्रीय संगठन सचिव संजय जोशी की किसी महिला के साथ एक सीडी का मामला सामने आया था. किसी होटल सुइट में बनी इस सीडी में जोशी एक महिला के साथ हमबिस्तर दिख रहे थे, हालांकि महिला का चेहरा छुपा दिया गया था. यह खबर ग्वालियर से प्रकाशित होने वाले साप्ताहिक “अर्थयुग टाइम्स” ने भी दी थी.

उन दिनों चर्चा थी कि, ऐसी सीडी कई मंत्रियों, अफसरों व अन्य नेताओं की भी हैं, जो ब्लैकमेल करने के उद्देश्य से बनाई गई. लेकिन जोशी की सीडी किसी तरह मीडिया में फैल गई थी. ज्ञातव्य है कि, जोशी की चर्चा उन दिनों नरेन्द्र मोदी (अब पीएम) के पार्टी व संघ में मुखर विरोधी के तौर पर भी हुई थी.

तब पूर्व सीएम बन चुकी सुश्री भारती ने भी कर्नाटक यात्रा के दौरान कहा था कि, मेरी जानकारी में कई अन्य नेताओं की भी ऐसी सीडी बनाई गई हैं.

देश – दुनियां की ऐसी ही चटपटी, सनसनीखेज, बिंदास, सच्ची और विचारोत्तेजक खबरों / वीडियो से हमेशा अपडेट रहने के लिए कृपया यहां दिख रहा Allow या Follow का बटन दवाऐं अथवा लाल घंटी बजाऐं. जब चाहें दोबारा ऐसा कर आप अनअपडेट भी हो सकते हैं.

loading...
News Reporter
इस वेबसाइट व यू ट्यूब चैनल के लगभग सभी खबरें तथा वीडियो आदि Dailyhunt, Google News, NewsDog, NewsPoint एवं UC News पर भी उपलब्ध हैं इसमें ज्यादातर चित्र सांकेतिक रहते हैं तथा इंटरनेट व सोशल मीडिया से उपयोग किए जाते हैं, इसलिए हम किसी कॉपीराइट का दावा नहीं करते. सम्पर्क: Mobile / WhatsApp : 91-9993069079 E-Mail : rapaznewsco@gmail.com
loading...
loading...
Join Group