बॉयफ्रेंड को लेकर दो सहेलियों में झगड़ा, एक ने निकाला ब्लैड और की ऐसी हरकत

ग्वालियर। बॉयफ्रेंड को लेकर दो लड़कियों में झगड़ा हो गया। हालांकि, दोनों लड़कियां सहेली हैं लेकिन दोनों का बॉयफ्रेंड भी एक ही है। दोनों उस पर केवल अपना ही हक चाहती हैं, इसको लेकर वे आपस में लड़ गईं। झगड़े के बाद उनमें से एक ने गुस्से के चलते ब्लेड से अपने ही गले और हाथ पर कई कट मारे। यह देख घबराए बॉयफ्रेंड ने उसे रोका, तभी हंगामा सुनकर पास ही तैनात पुलिसकर्मी वहां पहुंच गए। पुलिस तत्काल घायल लड़की और उसके दोस्त को जेए हॉस्पीटल लेकर पहुंची।

घटना पड़ाव थाना क्षेत्र में मंगलवार रात 8 बजे रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड के बीच डीबी मॉल के बाहर की बताई जा रही है।

पुलिस ने छात्रा और उसके दोस्त के परिजनों को सूचना दे दी है। छात्रा के साथ मिला लड़का यानि बॉयफ्रेंड मुरैना का समीर बताया गया है। जबकि घायल लड़की नीता थाटीपुर थानान्तर्गत सुरेश नगर निवासी है, 20 साल की लड़की दसवीं की छात्रा है। साथ ही वह थाटीपुर में ब्यूटी पार्लर का कोर्स भी कर रही है।

दोपहर में वह अपने घर से निकली थी। पहले वह ब्यूटी पार्लर पहुंची। वहां से बहोड़ापुर निवासी अपनी सहेली सीमा को कॉल कर डीबी मॉल बुलाया। कुछ देर बाद दोनों सहेलियां और मुरैना से आया उनका कथित कॉमन बॉयफ्रेंड वहीं मिले।

लड़के के साथ उसके कुछ दोस्त भी साथ थे, लगभग सभी वहीं नशा करने लगे। इसी बीच बॉयफ्रेंड को लेकर दोनों सहेलियों मे झगड़ा हो गया। बहेड़ापुर निवासी सीमा नाराज होकर चली गई, उसे मनाने उनका बॉयफ्रेंड समीर भी जाने लगा। इस पर नीता बौखला गई। नशे में हंगामा करने लगी, इसके बाद अपनी स्कूटी की डिक्की से ब्लेड निकालकर खुदकुशी के इरादे से पहले हाथ पर 4 से 5 कट मारे। इसके बाद भी बॉयफ्रेंड नहीं लौटा तो गले पर कट मार दिया। यह देखकर समीर घबराकर लौटा और उसे संभाला। रात 8 बजे मॉल के बाहर रोड पर काफी ट्रैफिक होने के कारण लोगों की भीड़ लग गई। मॉल के सामने ही स्थित पुलिस चौकी से पुलिस मौके पर पहुंच गई। घायल छात्रा और उसके दोस्त को लेकर पड़ाव थाने ले आए, जहां से अस्पताल ले जाया गया।

खून से लथपथ छात्रा को पुलिस वाले थाने लेकर पहुंचे। पहले उससे परिजन का बुलाने के लिए कहा। छात्रा ने थाने में आवेदन लिखने और अपना नाम पता बताने से भी मना किया। जबकि उसके दोस्त के कुछ स्थानीय परिजन वहां पहुंच गए। पुलिस के सामने छात्रा ने पहली बार नशा करने और सहेली के गुस्सा होकर चले जाने पर खुद को यह सजा देने की बात कबूली है। समीर को लेकर छात्रा बार-बार कहती रही कि वह उसका दोस्त और भाई है उसे उसने मदद के लिए बुलाया था। उसको छोड़ दो मेरा जो करना है कर दो। पुलिस ने छात्रा व उसके दोस्त दोनों के परिजन को कॉल कर थाना बुलाया है। साथ ही छात्रा को मेडिकल के लिए भी भेजा है।

घटना के समय मॉल के बाहर काफी संख्या में लोग मौजूद थे। जिस समय छात्रा ने यह कदम उठाया वहां उसका दोस्त और दोस्त के साथी थे। छात्रा के ऐसा करते ही समीर तो उसे बचाने पहुंचा, लेकिन समीर के दोस्त भाग गए। पुलिस जल्द मौके पर नहीं पहुंचती तो छात्रा गले पर और कट मारकर खुद को ज्यादा नुकसान पहुंचा सकती थी।

मंगलवार 2 अप्रेल को हिंसा की बरसी के चलते शहर में धारा 144 लागू थी, चप्पे – चप्पे पर पुलिस तैनात थी। ऐसे माहौल में भी स्टेशन पुलिस चौकी के पास ही लड़के लड़कियों का नशा करना कुछ अजीब सी घटना है। घायल लड़की की स्कूटी में ब्लैड की मौजूदगी भी अजीब लगती है।
(कहानी सूत्रों, मीडिया व जनचर्चा पर आधारित. पात्रों के नाम काल्पनिक व चित्र सांकेतिक हैं.)

दोस्तों, यह आर्टीकल आपको कैसा लगा, कृपया नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर बताऐं. अगर आप ऐसी ही खबरें तत्काल पाना चाहें तो कृपया ऊपर फॉलो का बटन दवाऐं या नीचे लाल घंटी बजाऐं. वाट्सएप पर खबरें पढ़ने के लिए हमारा नम्बर 9993069079 अपने वाट्सएप ग्रुप में जोड़ें. धन्यवाद.

News Reporter
loading...
loading...
Join Group