कर्ज से परेशान युवा व्यापारी पहुंचा भोपाल और लगा ली फांसी

व्यवसाय में घाटा होने के बाद कर्ज में डूबे ग्वालियर के एक युवा व्यवसायी ने भोपाल के होटल में फांसी लगाकर जान दे दी है। वह 22 जुलाई को अहमदाबाद जाने की कहकर गया था।

जानकारी के अनुसार आखरी बार छोटे भाई से 30 जुलाई को बात हुई थी। 14 अगस्त को उसने भोपाल के मंगलवारा क्षेत्र स्थित एक लॉज में रूम लिया। शुक्रवार दोपहर तक जब वह रूम से बाहर नहीं आया और न ही कोई सर्विस ली तो होटल स्टाफ को संदेह हुआ।

रूम चेक किया तो व्यवसायी फांसी पर लटका मिला। मौके से एक सुसाइड नोट मिला है। जिसमें मृतक ने व्यवसाय में घाटा होने और कर्ज से परेशान होने की बात का जिक्र किया है।

इंदरगंज थाने के कमल सिंह का बाग की नायक कोठी निवासी 31 वर्षीय हेमंत कुमार गुप्ता (मोदी) पुत्र ओमप्रकाश फाइनेंस गाड़ियों के नीलामी के बाद री सेल का व्यवसाय करते थे। परिवार में मां और एक छोटा भाई प्रिंस गुप्ता हैं।

पिछले कुछ समय से काम ठीक नहीं चलने पर हेमंत काफी परेशान रहते थे। परिवार के सदस्यों को भी उनकी परेशानी का अहसास था, लेकिन व्यवसायी ने कभी परिवार के सदस्यों से इसका जिक्र नहीं किया था।

22 जुलाई को वह किसी काम के सिलसिले में अहमदाबाद जाने की कहकर निकले थे, लेकिन इसके बाद घर ही नहीं लौटे। व्यापारी ने 14 अगस्त को भोपाल के मंगलवारा थानाक्षेत्र में सुबह होटल सुपर लॉज में पहुंचकर एक रूम लिया था।

उसके बाद 15 अगस्त तक उसे देखा गया, लेकिन 16 अगस्त की सुबह जब वेटर रूम सर्विस के लिए गया तो गेट नॉक करने के बाद भी कोई जवाब नहीं मिला। इसके बाद दोपहर में वेटर फिर पहुंचा। इस बार होटल प्रबंधन को संदेह हुआ।

मास्टर की से गेट खोला तो हेमंत फांसी पर लटका मिला। पुलिस ने शव को निगरानी में लेकर मर्ग कायम कर लिया है। शनिवार को परिजन भोपाल पहुंचे। उनके पहुंचने के बाद पुलिस ने पोस्टमार्टम कराया और शव परिजन के सुपुर्द कर दिया है। शनिवार रात 10 बजे शव को लेकर परिजन ग्वालियर पहुंचे।

सुसाइड नोट में लिखा दर्द

व्यवसायी की जेब से पुलिस को एक सुसाइड नोट भी मिला । जिसमें उसने व्यवसाय में घाटा होने और कर्ज से परेशान होने का जिक्र किया है। उसने लिखा है कि उसकी मौत के लिए किसी को दोषी नहीं माना जाए वह खुद यह कदम उठा रहा है।

30 जुलाई तक भाई से की बात

मृतक के हेमंत के छोटे भाई प्रिंस ने बताया कि 22 जुलाई को भाई के अहमदाबाद निकलने के बाद उसकी बात होती थी। 30 जुलाई को आखिरी बार बात हुई थी। उसके बाद उनका मोबाइल बंद आ रहा था। 1 अगस्त को इंदौर के होटल मधुर मिलन से कॉल आया था। उन्होंने भाई के कपड़े व बैग रखे होने की बात कहकर होटल का पैमेंट चुकाकर पर ले जाने केलिए कहा था। मतलब भाई ने वहां चेक इन तो किया था, लेकिन चेक आउट किए बिना ही निकल गए। इसके बाद उनकी कोई सूचना नहीं थी।

एक महीने पहले बदला घर

व्यवसायी अपने परिवार के साथ पहले ललितपुर कॉलोनी में रहता था। पर एक महीने पहले ही उन्होंने इंदरगंज कमल सिंह का बाग स्थित नायक कोठी में घर किराए से लिया था। ऐसा भी माना जा रहा है कि, हो सकता है कर्जदार परेशान कर रहे हों इसलिए घर बदला हो।

देश दुनियां की ऐसी ही खबरों से हमेशा अपडेट रहने के लिए हमारी फ्री सेवा का उपयोग करें. कृपया यहां दिख रहा Allow या Follow का बटन दवाऐं अथवा लाल घंटी बजाऐं. क्योंकि, वाट्सएप से सभी नम्बरों पर सूचना नहीं पहुंच रही. अपने समूह में हमारा वाट्सएप नम्बर 7974827087 भी शामिल कर सकते हैं. धन्यवाद

loading...
News Reporter
इस वेबसाइट के लगभग सभी आलेख व खबरें Dailyhunt, Google News, NewsDog, NewsPoint एवं UC News पर भी उपलब्ध हैं. ज्यादातर चित्र सांकेतिक रहते हैं तथा इंटरनेट के उपयोग किए जाते हैं, इसलिए किसी कॉपीराइट का दावा नहीं है. सम्पर्क: Mob : 91-9993069079 WhatsApp : 91-7974827087 E-Mail : rapaznewsco@gmail.com

1 thought on “कर्ज से परेशान युवा व्यापारी पहुंचा भोपाल और लगा ली फांसी

  1. जांच होना चाहिए, बीच रे पंद्रह दिन कहां रहा

Comments are closed.

loading...
loading...
Join Group