सच्ची घटना; एक मुस्लिम युवक ने ऐसे मनाई ईद

एक ईद ऐसी भी !!!
12 अगस्त 2019,  11.55 सुबह

कोई पांच दिन पहिले उरई उत्तर प्रदेश के एक महात्मा जी का ऑपरेशन किया था, आज बुलाया था जांच के लिए, महात्मा वीरेन्द्र जी आँख से लाचार और एक पैर से भी.

बीस मिनट पाहिले की बात है, महात्मा जी को सहारा देता अन्दर आया एक हट्टा कट्टा नौजवान, मैंने ना जाने किस धुन में पूछ लिया- तुम्हारा नाम, बोला- मोहम्मद हनीफ !!

मैंने कहा- अरे ईद के दिन कैसे ? त्यौहार नहीं मना रहे क्या?

हनीफ मुस्कुराया और बोला- इनको साथ लगता है, बिना सहारे गाडी में नहीं बैठ पाते, सो मैं चला आया, बस ये ही त्यौहार समझिये.

कहाँ वो मंदिर – मस्जिद, तीन तलाक, एक आचार संहिता,  ओवेसी -शाह, जय श्री राम पर जूझ रहें, कहाँ इस अनपढ़ मोहम्मद हनीफ ने सारे धर्मों का सार अपनी मुस्कान में भर कर मुझे ईद की ईदी दे दी.

मैं भगवान् , खुदा को नहीं मानता, पूजा, नमाज़ जानता भी नहीं,  पर ये क्या है की इंसान का चोला पहिन भगवान मुझे बार बार मिलते हैं ? कोई बतलाये.

(यह घटना ग्वालियर के प्रसिद्ध नेत्र चिकित्सक डॉ अरविंद दुबे की फेसबुक वॉल से साभार उनके ही शब्दों में यथावत)

देश दुनियां की खबरों से हमेशा अपडेट रहने के लिए फ्री सेवा का उपयोग करें. कृपया यहां दिख रहा Allow या Follow का बटन दवाऐं अथवा लाल घंटी बजाऐं. क्योंकि, वाट्सएप से सभी नम्बरों पर सूचना नहीं पहुंच रही. धन्यवाद

News Reporter
इस वेबसाइट के लगभग सभी आलेख व खबरें Dailyhunt, Google News, NewsDog, NewsPoint एवं UC News पर भी उपलब्ध हैं. ज्यादातर चित्र सांकेतिक रहते हैं तथा इंटरनेट के उपयोग किए जाते हैं, इसलिए किसी कॉपीराइट का दावा नहीं है. सम्पर्क: Mob : 91-9993069079 WhatsApp : 91-7974827087 E-Mail : rapaznewsco@gmail.com

1 thought on “सच्ची घटना; एक मुस्लिम युवक ने ऐसे मनाई ईद

  1. loading...

Comments are closed.

loading...
loading...
Join Group