कभी माननीय मंत्री थे और जाते थे संसद, अब बनेंगे कैदी और जाएंगे जेल

भिंड / भोपाल। भाजपा की राज्य सरकार में मंत्री रहे लालसिंह आर्य की मुश्किलें फिर बढ़ गई हैं, दरअसल राजधानी की विशेष अदालत ने हत्या के मामले में आरोपी पूर्व मंत्री लालसिंह आर्य की अग्रिम जमानत अर्जी खारिज कर दी है। विशेष न्यायाधीश ने अर्जी खारिज करते हुए कहा कि आरोपी के खिलाफ पहले ही भिंड की विशेष अदालत से गिरफ्तारी वारंट जारी किए गए हैं और गंभीर अपराध होने की वजह से अग्रिम जमानत का लाभ नहीं दिया जा सकता। मालूम हो कि, लाल सिंह आर्य चम्बलान्चल के भिंड ज़िले की गोहद सीट से भाजपा विधायक रहे, वह इसी सीट से पूर्व में कांग्रेस विधाएक रहे माखन लाल जाटव हत्याकांड में आरोपी हैं। आर्य ने राजनीतिक द्वेष के चलते झूठे केस में फंसाने की दलील देते हुए जमानत अर्जी लगाई थी।

यह है मामला:
वर्ष 2008 में विधानसभा चुनाव में माखन सिंह जाटव कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीते थे।
चुनाव के दौरान उनका भाजपा नेता लालसिंह आर्य से विवाद हुआ था।
इसके चलते लालसिंह ने सार्वजनिक रूप से माखन सिंह जाटव को जान से मारने की धमकी दी थी।
वर्ष 2009 में लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस विधायक माखन सिंह जाटव की हत्या हो गई।
इस मामले पुलिस जांच के दौरान लालसिंह आर्य को आरोपी नहीं बनाया गया था।
मामले में सीबीआई जांच भी की गई और मामला भिंड की विशेष अदालत से इंदौर उच्च न्यायालय तक पहुंचा।
बाद में इंदौर उच्च न्यायालय ने फिर से मामला भिंड विशेष अदालत में स्थानांतरित कर दिया।
भिंड अदालत में सुनवाई के दौरान लाल सिंह आर्य मंत्री पद पर थे और उनके खिलाफ सात बार गिरफ्तारी वारंट जारी किए जा चुके थे।
अंतिम बार आर्य के खिलाफ वर्ष 2017 में गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया।
भोपाल में एमपी एमएलएके खिलाफ मामलों की सुनवाई के लिए गठित विशेष अदालत को मामले की सुनवाई स्थानांतरित कर दी गई।

फिलहाल आर्य का जेल जाना निश्चित समझा जा रहा है। वह समर्पण करेंगे या पुलिस खोजकर ही उनको गिरफ्तार करे, यह जल्दी ही पता चल जाएगा। इस तरह कल तक माननीय कहलाने और संसद (विधानसभा) जाने वाले हत्यारोपी नेता लाल सिंह आर्य को एक कैदी के रूप में जेल जाना पड़ सकता है।

दोस्तों, यह आर्टीकल आपको कैसा लगा, कृपया नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर बताऐं. अगर आप ऐसी ही खबरें तत्काल पाना चाहें तो कृपया ऊपर फॉलो का बटन दवाऐं या नीचे लाल घंटी बजाऐं. अपने वाट्सएप पर खबरें पढ़ने के लिए हमारे नम्बर 9993069079 पर Hi / Hello या Miscall करें. यह नम्बर आप अपने वाट्सएप ग्रुप में भी जोड़ सकते हैं. धन्यवाद.

loading...