एमपी के चार जिलों में होगी काजू की खेती, धनवान होंगे गरीब आदिवासी किसान

मध्य प्रदेश के बैतूल में काजू की खेती की अपार संभावनाऐं हैं। इस जिले की जमीन इसके लिए उपयोगी साबित हो सकती है। इस जिले में काजू की पैदावार के लिए राज्य सरकार ने तैयारियां आरंभ कर दी हैं। ऐस खबर पहले ही दी जा चुकी है।

अब इस दिशा में एक और खुशखबरी सामने आई है। बैतूल के अलावा अन्य तीन जिलों छिंदवाड़ा, सिवनी और बालाघाट में भी काजू की खेती हो सकेगी। इन जिलों की जमीन भी इसके लिए उपयोगी है।  राज्य के इन चार जिलों में काजू की पैदावार होने से, यहां के गरीब आदिवासी किसान अब धनवान बन सकते हैं।

जानकारी के मुताबिक प्रदेश में काजू की खेती की सभावनाएँ तलाशने के लिए भारत सरकार के निदेशक काजू एवं कोको विकास निदेशालय, कोच्ची डॉ. वेंकटेश एन. हुबल्ली ने छिन्दवाड़ा, बालाघाट और सिवनी जिलों के आदिवासी बहुल क्षेत्रों के ग्रामों का दौरा किया, ग्रामीणों से चर्चा की।

बालाघाट जिले के ग्राम देवरीमेटा में डॉ. हुब्बली ने मनरेगा की शैलपर्ण योजना में रोपित काजू के पौधों को देखकर कहा कि बंजर पहाड़ी जमीन पर काजू की खेती की बहुत संभावनाएँ हैं। उन्होंने बताया कि भारत सरकार द्वारा काजू की खेती के लिए मध्यप्रदेश के 4 जिलों छिन्दवाड़ा, बैतूल, सिवनी और बालाघाट का चयन किया गया है।

डॉ. वेंकटेश एन. हुबल्ली ने बालाघाट जिले में पाथरी पुलिस चौकी के सामने लगे 25 वर्ष पुराने काजू के वृक्षों और गोवारी पंचायत के ग्राम देवरीमेटा में मनरेगा में 42 एकड़ क्षेत्र में दो वर्ष पहले लगाये गये काजू के पौधों को देखा। जब उन्हें बताया गया कि देवरीमेटा में काजू के पौधों ने दो वर्ष में ही फल देना शुरू कर दिया है, तो वे चकित रह गये। उन्होंने ग्रामीणों को बताया कि अच्छी देखभाल से काजू का अधिक उत्पादन मिलेगा।

छिन्दवाड़ा में असीम संभावनाएँ: 

भ्रमण के पहले डॉ. वेंकटेश ने छिन्दवाड़ा जिले में काजू उत्पादन की दृष्टि से तामिया और जुन्नारदेव विकासखण्ड के ग्रामीण अंचल का दौरा किया। डॉ. वेंकटेश ने यहाँ की जलवायु को काजू की पैदावार के लिए अनुकूल माना और कार्य-योजना बनाने की जरूरत बताई है।

देश दुनियां की खबरों से हमेशा अपडेट रहने के लिए फ्री सेवा का उपयोग करें. कृपया Allow या Follow का बटन दवाऐं अथवा लाल घंटी बजाऐं. क्योंकि, वाट्सएप से सभी नम्बरों पर सूचना नहीं पहुंच रही. धन्यवाद

loading...
News Reporter
इस वेबसाइट व यू ट्यूब चैनल के लगभग सभी खबरें तथा वीडियो आदि Dailyhunt, Google News, NewsDog, NewsPoint एवं UC News पर भी उपलब्ध हैं इसमें ज्यादातर चित्र सांकेतिक रहते हैं तथा इंटरनेट व सोशल मीडिया से उपयोग किए जाते हैं, इसलिए हम किसी कॉपीराइट का दावा नहीं करते. सम्पर्क: Mobile / WhatsApp : 91-9993069079 E-Mail : rapaznewsco@gmail.com

1 thought on “एमपी के चार जिलों में होगी काजू की खेती, धनवान होंगे गरीब आदिवासी किसान

  1. फिर तो यहां काजू सस्ता भी मिल सकेगा

Comments are closed.

loading...
loading...
Join Group