हैल्थ डायरेक्टर शिखा के खिलाफ जांच शुरू, आर्थिक गड़बड़ी के आरोप

महिला आईएएस अफसर शिखा राजपूत तिवारी के खिलाफ राज्य शासन द्वारा जांच शुरू करने की खबर है. वर्तमान में वह बेमेतरा जिले की कलैक्टर हैं और छत्तीस गढ़ की स्वास्थ संचालक भी रह चुकी हैं.

यह जांच आयुष्मान भारत, मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा और संजीवन सहायता कोष योजनाओं में गड़बड़ियों की शिकायत मिलने के बाद बिठाई गई है. जांच का जिम्मा स्पेशल सेक्रेटरी हेल्थ भुवनेश यादव को सौंपा गया है. दस दिनों के भीतर यादव को जांच रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए हैं.

मालूम हो कि, शिखा राजपूत तिवारी हाल ही में बेमेतरा कलेक्टर बनाई गई है. जानकारी के अनुसार पिछले दिनों राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के एडिशनल सीईओ विजयेंद्र कटारे की संविदा नियुक्ति से जुड़े एक मामले में स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव की नाराजगी के बाद उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था.

खबर यह भी है कि पिछले दिनों राज्य की स्वास्थ सचिव निहारिका बारिक को बिलासपुर, जांजगीर चांपा और रायपुर के कुछ डाक्टरों ने लिखित शिकायत दी थी, जिसमें आरोप लगाया गया था कि आयुष्मान भारत, मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा और संजीवनी सहायता कोष के क्लेम में जमकर भ्रष्टाचार किया जा रहा है. डाक्टरों ने अपने आरोप में यह भी कहा था कि अस्पतालों से अवैध वसूली की जा रही है. जानबूझकर भुगतान रोके जा रहे हैं. भुगतान के बदले 5 से 10 फीसदी तक कमीशन की मांग की जा रही है.

इन शिकायतों के मिलने पर सचिव निहारिका बारिक ने स्पेशल सेक्रेटरी हेल्थ भुवनेश यादव को जांच का जिम्मा देते हुए दस दिनों के भीतर जांच प्रतिवेदन तलब किया है.

देश दुनियां की खबरों से हमेशा अपडेट रहने के लिए फ्री सेवा का उपयोग करें. कृपया Allow या Follow का बटन दवाऐं अथवा लाल घंटी बजाऐं. क्योंकि, वाट्सएप से सभी नम्बरों पर सूचना नहीं पहुंच रही. धन्यवाद

loading...
News Reporter
इस वेबसाइट व यू ट्यूब चैनल के लगभग सभी खबरें तथा वीडियो आदि Dailyhunt, Google News, NewsDog, NewsPoint एवं UC News पर भी उपलब्ध हैं इसमें ज्यादातर चित्र सांकेतिक रहते हैं तथा इंटरनेट व सोशल मीडिया से उपयोग किए जाते हैं, इसलिए हम किसी कॉपीराइट का दावा नहीं करते. सम्पर्क: Mobile / WhatsApp : 91-9993069079 E-Mail : rapaznewsco@gmail.com

1 thought on “हैल्थ डायरेक्टर शिखा के खिलाफ जांच शुरू, आर्थिक गड़बड़ी के आरोप

  1. दोषी पाए जाने पर सजा भी होना चाहिए

Comments are closed.

loading...
loading...
Join Group