इंदौर में निगम ने फिर तोड़े मकान, हंगामा हुआ लेकिन कोई नेता न आया सामने

कड़ी पुलिस व प्रशासनिक व्यवस्था के बीच इंदौर में नगर निगम द्वारा जर्जर मकानों को तोड़ने की कार्रवाई जारी है लेकिन आकाश विजयवर्गीय कांड के बाद अब कोई नेता रुकावट डालने की हिम्मत नहीं कर पा रहा।

निगम ने शुक्रवार को बियाबानी क्षेत्र में भगत सिंह मार्ग पर बने रामेश्वर भेरूलाल के जर्जर मकान तोड़ दिया, इसे तोड़ने पर कुछ हंगामा हुआ। दरअसल, इसमें रहने वाले किराएदार निर्मल राठौर और उसके परिवार का कहना रहा कि निगम को मकान का केवल आगे को आगे का जर्जर हिस्सा ही तोड़ना था, लेकिन उसने पीछे बने मकान को भी तोड़ दिया। किराएदार ने कहा कि उस हिस्से में उनका घर का सारा सामान रखा था जो अब मलबे में दब गया है।

किराएदार द्वारा रुकावट डालने की कोशिश करने पर नगर निगम कर्मचारी उन्हें पीछे हटाते रहे। इस दौरान वहां मौजूद मल्हारगंज एसडीएम डॉ राकेश शर्मा ने कहा कि वह यहां प्रशासन की ओर से सहयोग देने आए हैं। जब उनसे किराएदार द्वारा लगाए गए आरोपों पर सवाल किए गए तो उन्होंने कहा कि नगर निगम पूरी जानकारी के बाद ही कार्रवाई करता है। हम यहां सुरक्षा की व्यवस्था देख रहे हैं।

बता दें कि, नगर निगम शहर में अब तक अति संवेदनशील जर्जर 26 भवनों में से 11 तोड़ चुका है। इनमें वह मकान भी शामिल है जिसको बचाने इंदौर -तीन से भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय निगम अधिकारी को क्रिकेट बैट से मारा था। तब विधायक के गिरफ्तार होना पड़ा था, कुछ दिन जेल में गुजरने के बाद सशर्त जमामत पर बाहर आ सके।

भाजपा विधायक की इस दबंगई गे बाद देशभर में कहीं भी भाजपा नेता शासकीय कार्य में बाधा उत्पन्न कर सकते थे किंतु, आकाश की करनी पर पीएम नरेन्द्र मोदी द्वारा खुलकर नाराजगी जताए जाने से ऐसे नेताओं की हिम्मत जवाब दे गई।

मालूम हो कि पीएम मोदी द्वारा फटकार लगाने से पहले जब आकाश जेल में थे, उस दौरान कई भाजपा नेताओं ने अधिकारियों को धमकाया, जिससे प्रतीत हुआ कि अब भाजपा आकाश द्वारा दिखाए रास्ते पर चल पड़ी है।

देश दुनियां की खबरों से हमेशा अपडेट रहने के लिए फ्री सेवा का उपयोग करें. कृपया Allow या Follow का बटन दवाऐं अथवा लाल घंटी बजाऐं. क्योंकि, वाट्सएप से सभी नम्बरों पर सूचना नहीं पहुंच रही. धन्यवाद

loading...
News Reporter
इस वेबसाइट के लगभग सभी आलेख व खबरें Dailyhunt, Google News, NewsDog, NewsPoint एवं UC News पर भी उपलब्ध हैं. ज्यादातर चित्र सांकेतिक रहते हैं तथा इंटरनेट के उपयोग किए जाते हैं, इसलिए किसी कॉपीराइट का दावा नहीं है. सम्पर्क: Mob : 91-9993069079 WhatsApp : 91-7974827087 E-Mail : rapaznewsco@gmail.com

1 thought on “इंदौर में निगम ने फिर तोड़े मकान, हंगामा हुआ लेकिन कोई नेता न आया सामने

  1. मोदी के डर से घरों में दुबक गए पार्टी का चरित्र बदलने की चाह रखने वाले

Comments are closed.

loading...
loading...
Join Group