जनता ने पकड़े पुलिस के सिपाही, बंधक बनाकर मारापीटा फिर ले गए थाने

पुलिस आरोपियों को पकड़ती है, उन पर थर्ड डिग्री का भी इश्तेमाल करती है। ऐसा होता रहता है। ऐसी घटनाओं की खबर कम ही बनती है लेकिन, जब घटना बिलकुल उलट हो तो खबर सुर्खियों में बनती है। यह भी एक ऐसी ही खबर है। पुलिस के दो सिपाहियों को 20-25 लोगों ने न केवल पकड़कर बंधक ही बनाया बल्कि, जमकर उनकी धुनाई भी कर डाली। यही नहीं मारते पीटते ही उनको पुलिस थाने भी ले गए।

यह अजीब मामला मध्यप्रदेश इंदौर में सोमवार को घटित हुआ। जानकारी के अनुसार आठ दिन पहले एक मारपीट की घटना हुई थी। दोनों पक्ष पुलिसवालों के परिचित हैं, इसलिए सिपाही इस मामले में समझौता कराने पहुंचे थे। यह प्रयास ही सिपाहियों का अपराध बन गया।

जब सिपाही समझौता कराने पहुंचे तो वहां पहले से मौजूद लोगों ने उनको ही बंधक बना लिया, मारपीट की और फिर पकड़कर उन्हें थाने ले गए। गनीमत रही कि बेचारे पीड़ित पुलिसवालों ने वर्दी नहीं पहनी थी। थाने पर भीड़ लग गई, हंगामे की भी खबर है। जब यह जानकारी अफसरों को लगी तो सीएसपी और एएसपी भी मौके पर पहुंचे।

एएसपी गुरु प्रसाद पाराशर ने दोनों सिपाहियों को देर रात लाइन अटैच कर दिया है और जांच बैठा दी है। घटना शनिवार रात मोती तबेला की है। अभी यह स्पष्ट होना बाकी है कि, सिपाहियों का कुछ दोष भी है या अकारण ही वे शिकार हो गए।

मीडिया में आ रही खबरों के अनुसार शहर के पंढरीनाथ थाने में पदस्थ सिपाही मोहनलाल, जगदीश और कपड़ा व्यवसायी इमरान व सावेश को मिस्त्री बाला उसके परिजन और करीब 20 लोगों ने पकड़ लिया। चारों की जमकर धुनाई की और रावजी बाजार थाने ले गए। सूचना मिलने पर सीएसपी केसी मालवीय और एएसपी गुरु प्रसाद पाराशर भी पहुंचे।

बाला ने आरोप लगाया कि सिपाही मोहनलाल और जगदीश मारपीट के पुराने मामले में समझौता करने का दबाव बना रहे थे। जबकि, पंढरीनाथ थाना टीआई ने बताया कि मोहन और बाला पुराने परीचित हैं। बाला मिस्त्री है और कई बार थाने का भी काम कर चुका है। उसने खुद ही मोहन को बुलाया था। वहां पर उसके 25 समर्थक बैठे थे, जिन्होंने सिपाही को पकड़कर पीटना शुरू कर दिया।

जगदीश भी वहां पहुंचा तो उसे भी पकड़ लिया। थाने के सामने हुआ था विवाद करीब आठ दिन पहले बाला थाने के सामने कंबल वाली गली में काम कर रहा था। इसके पास में कपड़ा व्यापारी इमरान का घर है। बाला ने इमरान के घर में झिरी बना दी। इस पर दोनों में विवाद हुआ। इमरान ने बाला के पिता शकील को पीट दिया। मामला थाने पहुंचा तो पुलिस वालों ने अदम चेक काटा और दोनों पक्षों में समझौता करवा दिया।

देश दुनियां की खबरों से हमेशा अपडेट रहने के लिए फ्री सेवा का उपयोग करें. कृपया Allow या Follow का बटन दवाऐं अथवा लाल घंटी बजाऐं. क्योंकि, वाट्सएप से सभी नम्बरों पर सूचना नहीं पहुंच रही. धन्यवाद

loading...
News Reporter
इस वेबसाइट के लगभग सभी आलेख व खबरें Dailyhunt, Google News, NewsDog, NewsPoint एवं UC News पर भी उपलब्ध हैं. ज्यादातर चित्र सांकेतिक रहते हैं तथा इंटरनेट के उपयोग किए जाते हैं, इसलिए किसी कॉपीराइट का दावा नहीं है. सम्पर्क: Mob : 91-9993069079 WhatsApp : 91-7974827087 E-Mail : rapaznewsco@gmail.com

1 thought on “जनता ने पकड़े पुलिस के सिपाही, बंधक बनाकर मारापीटा फिर ले गए थाने

Comments are closed.

loading...
loading...
Join Group