जमीन का लालच; अपने ही दिव्यांग भाई को बनाया बंधक, मारापीटा और फेंक दिया

जमीन जायदाद के लालच में कभी कभी आदमी कितना स्वार्थी व अंधा हो जाता है कि, उसे अपने खून का रिश्ता भी याद नहीं रहता। यही नहीं उसे यह भी होश नहीं रहता कि, वह जो कर रहा है, उसका फल भी कड़वा ही मिलेगा। यह खबर स्वार्थ में अंधे एक ऐसे ही व्यक्ति की करतूत की है।

मध्य प्रदेश में शिवपुरी जिले की करैरा तहसील अन्तर्गत सुनारी पुलिस चौकी के गांव टोडा पमार में राम पाल व माखन पाल (पुत्र हरिराम पाल) दो भाई रहते हैं। राम विवाहित है, उसका परिवार भी है जबकि, माखन दिव्यांग है, वह अविवाहित भी है। जानकारी के अनुसार दोनों के पास 15 -15 बीघा पैतृक जमीन है।

माखन से उसके हिस्से की जमीन भी अपने नाम कराने के लिए राम और उसके बेटों ने माखन को तीन दिन तक बंधक बनाकर पीटा और जमीन देने की जिद की, वह नहीं माना तो उठाकर रास्ते में फेंक दिया। ऐसा आरोप माखन ने ही पुलिस थाने में लगाया है।

माखन के मुताबिक मारपीट कर वह 15 बीघा जमीन अपने नाम कराने के लिए दबाव बनाता रहा। इसके बाद गंभीर हालत में विकलांग भाई को रास्ते पर फेंककर भाग गया। इसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

दिव्यांग माखन ने आरोप लगाया है कि भाई रामपाल और उसके बेटों छोटू और सत्येंद्र ने शुक्रवार के दिन चार बजे से उसे बंधक बना रखा था। इस दौरान उन्होंने इससे जमकर मारपीट की और जमीन रामपाल के नाम करने का दबाव बनाते रहे लेकिन जब वह नहीं माना तो बाहर फेंक दिया।

दोस्तों, यह आर्टीकल आपको कैसा लगा, कृपया यहां कमेंट करके जरूर बताऐं ताकि, हम आपके अनुरूप सुधार कर सकें. [] ताजा खबरों से अपडेट रहने के लिए कृपया Allow या Follow का बटन जरूर दवाऐं अथवा लाल घंटी बजाऐं. [] सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों को शेयर भी करें.

News Reporter

1 thought on “जमीन का लालच; अपने ही दिव्यांग भाई को बनाया बंधक, मारापीटा और फेंक दिया

  1. loading...

Comments are closed.

loading...
loading...
Join Group