6 महीने से पेड़ पर लटक रही युवक की लाश, पहले लटकाई थी रेपपीडिता की; जानिये पूरा मामला

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के गृह प्रदेश गुजरात की राजधानी से एक अजीबोगरीब खबर आ रही है। मीडिया में आ रही खबर के मुताबिक गुजरात के एक गांव में वहां रहने वालो ने पिछले 6 महीने से पेड़ से लटका कर रखा है। इस गांव में आदिवासी रहते हैं।

सांकेतिक चित्र

इन आदिवाशियों का कहना है कि इंसाफ के लिए ऐसा किया है और ऐसा करना यानी लाश को लटकाना उनकी परंपरा है जो ‘चडोतरु’ के नाम से जानी जाती है। इस परम्परा में इंसाफ के लिए शव को नीम के पेड़ से टांग दिया जाता है , जो महीनों तक टंगा रहता है।

मीडिया को मिली जानकारी के अनुसार आदिवासी गांव टाढ़ी वेदी में एक शव पिछले 6 महीनों से नीम के एक पेड़ से लटका हुआ है। जो की चादर में लिपटा है। मृतक का नाम भातियाभिया गामर बताया गया है, जिसकी मौत जनवरी के शुरुआत में रहस्यमय परिस्थितियों में हुई थी।

यह गांव साबरकांठा जिले के पोशिना तालुका में गुजरात-राजस्थान बॉर्डर से 2 किलोमीटर दूर है। गामर का शव जमीन से करीब 15 फीट की ऊंचाई पर लटक रहा है। हालाँकि उसके पिता मेमनभाई मान चुके हैं कि उसने आत्महत्या की थी। लेकिन गामर के बाकी रिश्तेदारों मानने को तैयार ही नहीं है कि उसने आत्महत्या की है। रिश्तेदारों का कहना है कि जिस लड़की से वह प्रेम करता था, उसी के परिवार ने उसकी हत्या कर दी है ।

हालाँकि शुरुआती जांच में हत्या का संकेत नहीं मिलने के बाद स्थानीय पुलिस ने हादसे में मौत का केस दर्ज किया है। लेकिन परिजनों को पुलिस जांच से खास लेना-देना नहीं है, उन्हें समाज के इंसाफ पर भरोसा है। इसलिए गामर के शव को पेड़ से लटकाने के बाद से उसके रिश्तेदार पहले की तरह अपनी रोजमर्रा की जिंदगी जी रहे हैं।

17 बर्षिय छात्रा के शव को भी लटका दिया :
इसी तरह खेड़ब्रह्म में बीए फर्स्ट इयर की एक 17 साल की छात्रा के पिता ने चडोतरु का ऐलान किया था। लड़की का शव इस साल फरवरी में एक पेड़ से लटकता मिला था। उसके परिजनों ने शव का अंतिम संस्कार नहीं किया। उन्हें हत्या की आशंका है और उन्होंने अपने घर में शव को बर्फ पर डालकर एक लकड़ी के बॉक्स में 36 दिनों तक रखा। उनका आरोप था कि लड़की का रेप के बाद मर्डर हुआ है। शव का अंतिम संस्कार मार्च में तब हुआ जब पुलिस ने इस मामले में 7 लोगों को गिरफ्तार किया।

मित्रों, अब वाट्सएप पर सभी लिंक नहीं जा सकते इसलिए तत्काल ताजा खबरों के लिए कृपया Allow / Follow पर क्लिक करें अथवा लाल घंटी बजाकर Subscribe कर लें. विभिन्न एप्पस पर लाखों लोग ऐसा कर भी रहे हैं.
यह Free सेवा है. जब चाहें तब Unfollow / Unsubscribe भी कर सकते हैं.

2 Comments

  1. loading...
  2. दोस्तों, यह आर्टीकल आपको कैसा लगा, कृपया यहां कमेंट करके जरूर बताऐं ताकि, हम आपके अनुरूप सुधार कर सकें.

    अगर आप ताजा खबरें पढ़ना चाहें तो Allow या Follow का बटन जरूर दवाऐं अथवा लाल घंटी बजाऐं.

    सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों को शेयर भी करें.

    अपने वाट्सएप पर खबरें पढ़ने के लिए हमारे नम्बर 7440984367 पर Hi / Hello या Miscall करें. यह नम्बर आप अपने वाट्सएप ग्रुप में भी जोड़ सकते हैं. धन्यवाद.

    सम्पादक: रापाज न्यूज

Comments are closed.

loading...