ऐसी भी हो सकती है सास; संध्या शर्मा ने दिखाया नारी का नया रूप

नारी एक रूप अनेक वाली कहावत को देवास की संध्या शर्मा ने सार्थक कर दिया। उन्होंने बहू के रूप में सास की अंत समय तक सेवा की। इसके बाद जब वे सास बनी तो बहू को भी बेटी की तरह दुलारा। जब काल ने उनसे उनका लाल और बहू का सुहाग छीना तो फिर मां के रूप में बहू को बेटी बना शिक्षा दिलाई। बेटी की तरह स्वतंत्रता दी और योग्य वर देख कर पुन: विवाह कराकर कन्यादान किया। साथ ही पूरी उम्र अपनी छत्रछाया में रखने का वचन भी दिया।

यह आश्चर्यजनक और प्रेरक कथा किसी फिल्म या टीवी सीरियल का हिस्सा नहीं बल्कि एक ताज़ा सत्यकथा है। मध्य प्रदेश के देवास जिला मुख्यालय के एमजी रोड पर निवासरत शर्मा परिवार के कृष्णकांत शर्मा और पत्नी संध्या शर्मा के इकलौते पुत्र वैभव शर्मा की आकस्मिक मृत्यु एक जनवरी 2016 को हो गई थी। वैभव का विवाह सनावद निवासी डॉ. मनोहर शर्मा की पुत्री नेहा के साथ हुआ था। पति की मृत्यु के बाद नेहा ने अपने सास-ससुर की सेवा बेटी बनकर की तो उन्होंने भी उसे अपनी बेटी मानकर उसके भविष्य को संवारने के लिए उसे उच्च शिक्षा दिलवाई।

कम्प्यूटर में पीजीडीसीए का डिप्लोमा और बीएड कराया। शर्मा परिवार की परीक्षा अभी समाप्त नहीं हुुई थी। इसी दौरान कृष्णकांत शर्मा की माताजी को लकवा हो गया लेकिन शर्मा दंपती ने हिम्मत नहीं हारी और अंत समय तक उनकी सेवा की। इसके बाद कृष्णकांत व संध्या शर्मा ने नेहा का भविष्य संवारने के लिए उसके पुनर्विवाह का संकल्प लिया।

उसके लिए योग्य वर की तलाश की, जब तलाश पूरी हुयी तब बीते मंगलवार को नेहा का विवाह राजगढ़ जिले के ग्राम हिकमी निवासी अजय शर्मा के साथ कराया। नेहा जब डोली में बैठाकर विदा हुई तो शर्मा दंपती रो पड़े और कहा कि देवास तेरा मायका है और हम तेरे माता-पिता हैं। हमें भूलना मत, तुमने जैसे हमें संभाला है वैसे ही अपने परिवार को संभालना।

इस हृदय विदारक विदाई को देखकर उपस्थित जन की आंखें भर आई। कृष्णकांत और संध्या शर्मा ने ममता, प्रेम, करुणा, त्याग और समर्पण के साथ अपने कर्तव्यों का पालन करते हुए सारे ब्राह्मण समाज में आदर्श स्थापित किया। नेहा व अजय ने विवाह के बाद देवास में ही रहकर नेहा के माता-पिता बने कृष्णकांत व संध्या शर्मा की सेवा करने का संकल्प लिया।

तत्काल ताजा खबरों के लिए हमें फॉलो या Allow करें अथवा लाल घंटी बजाकर Subscribe करें. / यह न्यूज कैसी लगी, नीचे कमेंट बॉक्स में अपनी राय भी दें, आपका ईमेल शो नहीं किया जावेगा.

1 Comment

  1. loading...

Comments are closed.

loading...