चर्चा का विषय बना ग्वालियर कलैक्टर चौधरी का फरमान

कभी – कभी कुछ सरकारी अधिकारी लीक और अपने नियत अधिकारों से हटकर ऐसा काम कर देते हैं कि, वह लोगों को लम्बे समय तक याद रहता है। यदि उनके द्वारा किया गया काम जनहित, कानून हित या समाज हित में होता है तो अधिकारी को आमजन से प्रशंसा भी मिलती है।

ऐसा ही कुछ नया व प्रशंसनीय कदम उठाया है मध्य प्रदेश के ग्वालियर कलैक्टर अनुराग चौधरी ने। उन्होंने शनिवार को एक फरमान जारी करते हुए कहा है कि, हथियार लायसेंस लेने के इच्छुक व्यक्ति को कम से कम एक पौधा लगाना होंगा, लगाए गए पौधे के साथ फोटो (सेल्फी) भी लेना होगी, उसके बाद ही हथियार लायसेंस का आवेदन स्वीकार हो सकेगा।

यानि कि अब हथियार लायसेंस चाहने वालों को पहले एक पौधा लगाना पडेगा , उसकी महीने भर सेवा भी करनी होगी, फिर उसकी (पौधे के साथ) सेल्फी लेकर प्रमाण सहित आवेदन करने का वह हकदार होगा। कलेक्टर अनुराग चौधरी की इस पहल की अंचल में ही नहीं सोशल मीडिया पर भी जमकर सराहना हो रही है। अवश्य ही पर्यावरण प्रेमी कलेक्टर चौधरी की इस पहल से ग्वालियर में वृक्षों की संख्या भी बढेगी।

मालूम हो कि, ग्वालियर सहित अंचल के कई जिलाें में लोगों को जीवन से हथियारों से प्रेम है। वर्तमान में केवल ग्वालियर जिले में ही 29 हजार 800 लायसेंसी हथियार हैं। दरअसल, इस अंचल में हथियार होना समाज में प्रतिष्ठा और समृद्धता की पहचान समझा जाता है।

कलैक्टर चौधरी ने यहां के लोगों की ‘नस’ पकड़ते हुए, समयानुसार अनुकरणीय पहल की है। अब पौधा लगाने के अलावा उसके संरक्षण के लिए भी आदेशित किया जात सकता है, हर हथियाधारी द्वारा कम से कम एक पौधे के जीवन की रक्षा जरूरी हो। साथ ही अन्य जिलों में भी ऐसा हो तो जल्दी ही जंगल हरे भरे हो सकते हैं।

तत्काल ताजा खबरों के लिए हमें फॉलो या Allow करें अथवा लाल घंटी बजाकर Subscribe करें. / यह न्यूज कैसी लगी, नीचे कमेंट बॉक्स में अपनी राय भी दें, आपका नाम, नम्बर, ईमेल शो नहीं किया जावेगा.

loading...