नीतीश – अनुप्रिया; न सरकार के रहे न बाहर के

अविश्वसनीय मत और सीटें पाकर पीएम नरेन्द्र मोदी और भाजपा ने अपनी सरकार की दूसरी पारी की भव्य शुरूआत कर ली है। लेकिन पहली पारी में सरकार में शामिल रहे राजग के घटक दलों में से दो जदयू और अपना दल इस बार सरकार में शामिल नहीं है। बाकी चार पुराने साथी (राजग के घटक दल) शामिल हैं भी, लेकिन उन्हें भी केवल एक एक मंत्रिपद देकर जैसे उपकृत किया गया, अहसान किया गया।

ये घटक दल हैं- शिवसेना,अकाली दल, लोजपा और आरपीआई। इनसे एक एक मंत्री बनाया गया है। खबरों के मुताबिक जदयू और अपना दल से भी एक एक मंत्री बनाकर उनको भी उपकृत किया जा रहा था किंतु, न तो जदयू के मुखिया नीतीश कुमार ने यह स्वीकार किया और न ही अपना दल की अनुप्रिया पटेल ने।

दरअसल भाजपा के पास इस बार इतनी अधिक सीटें हैं कि, उसे किसी सहयोगी की जरूरत ही नहीं रही। बल्कि, हालत ये है कि, इन घटक दलों को ही अब भाजपा और मोदी की कृपा की जरूरत है क्योंकि, न वे विरोधी तो हैं नहीं, सरकार में भी शामिल न होते तो उनकी गिनती कहां होती, यह बड़ा सवाल पैदा हो गया था।

लिहाजा अपना अस्तित्व बनाए या बचाए रखने अब इन दलों के लिए यही काफी है कि, वे सरकार में शामिल है। लेकिन अब उनको कभी मुंह खोलने का मौका नहीं मिलने वाला। उनको चुप ही रहना होगा, सायलेंट पार्टनर की तरह या क्रिकेट के एक्सट्रा खिलाड़ी की तरह।

याद हो पिछली सरकार में ये दल समय समय पर अपनी नाराजगी जताते रहे हैं, लेकिन अब इस बार ऐसा करने का मतलब सरकार से बाहर होना होगा, तब कहां जावेंगे सरकार (घर) से निकलकर, यह समस्या सामने होगी।

किंतु, जदयू व अपना दल ने उपकृत होने केे बजाय आत्मसम्मान बनाए रखना महत्वपूर्ण समझा और वे सरकार में शामिल नहीं हुए। इनमें जदयू तो फिलहाल ताकत में है भी, उसकी बिहार में सरकार है, पार्टी चीफ नीतीश कुमार सीएम हैं। लेकिन यूपी के अपना दल का क्या, समझ नहीं आ रहा, उसके पत्ते नहीं खुले- अपना दल चीफ अनुप्रिया पटेल क्यों शामिल नहीं हुईं, भविष्य में ही पता चल सकेगा।

— राकेश पाठक : #प्रसंगवश

तत्काल ताजा खबरों के लिए हमें फॉलो या Allow करें अथवा लाल घंटी बजाकर Subscribe करें. / यह न्यूज कैसी लगी, नीचे कमेंट बॉक्स में अपनी राय भी दें, आपका नाम, नम्बर, ईमेल शो नहीं किया जावेगा.

loading...
News Reporter
इस वेबसाइट के लगभग सभी आलेख व खबरें Dailyhunt, Google News, NewsDog, NewsPoint एवं UC News पर भी उपलब्ध हैं. ज्यादातर चित्र सांकेतिक रहते हैं तथा इंटरनेट के उपयोग किए जाते हैं, इसलिए किसी कॉपीराइट का दावा नहीं है. सम्पर्क: Mob : 91-9993069079 WhatsApp : 91-7974827087 E-Mail : rapaznewsco@gmail.com
loading...
loading...
Join Group