कमलनाथ ने फिर दोहराया- मेरी सरकार को कोई खतरा नहीं, फ्लोर टेस्ट को भी फिर तैयार

सीधी. लोकसभा चुनाव प्रचंड बहुमत मिलने के बाद से एक बार फिर मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार पर संकट की बात कही जा रही है। इस बीच सोमवार को सीधी पहुंचे मुख्यमंत्री कमलनाथ ने फिर से दोहराया कि उनकी सरकार को कोई खतरा नहीं है। कमलनाथ सोमवार को अजय सिंह की मां और पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह की पत्नी सरोज देवी को श्रद्धांजलि देने के लिए चुरहट पहुंचे थे।

संवाददाताओं से बातचीत में उन्होंने कहा, “चार बार फ्लोर टेस्ट हो चुका है। रविवार को हुई विधायक दल की बैठक में सभी विधायक पहुंचे थे। ऐसे में मेरी सरकार को कोई खतरा नहीं है। फिर भी अगर विपक्ष चाहता है तो फ्लोर टेस्ट हो जाना चाहिए।

कमलनाथ ने लोकसभा चुनाव में मिली हार पर कहा, “हम जनता के बीच अपनी बात ठीक ढंग से नहीं पहुंचा पाए, जबकि नरेंद्र मोदी और भाजपा ने राष्ट्रवाद और हिंदूत्व के मुद्दे पर चुनाव लड़ा। वहीं मुख्यमंत्री कमलनाथ ने संगठन में बदलाव के संकेत भी दिए हैं।”

चुरहट पहुंचे कमलनाथ ने अर्जुन सिंह को याद किया

मुख्यमंत्री कमलनाथ आज पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह की मां और पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह की पत्नी सरोज देवी को श्रद्धांजलि देने के लिए चुरहट पहुंचे थे। यहां उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह को याद करते हुए कहा कि वो राजनीति में मेरे मार्गदर्शक रहे। उन्होंने ही मुझे पहली बार छिंदवाड़ा से लोकसभा चुनाव लड़ने को कहा था और मेरी मदद भी की थी। इस दौरान उनके साथ पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह भी मौजूद थे।

कैबिनेट आज, रेत खदानों की नीलामी पर होगी चर्चा
प्रदेश में रेत की खदानें पांच साल के लिए कांट्रेक्ट पर दिए जाने के प्रस्ताव पर सोमवार को होने वाली कैबिनेट की बैठक में चर्चा होने के आसार हैं। नई रेत खनन नीति में रेत के संग्रहण और लोडिंग में मशीनों के उपयोग पर प्रतिबंध लगाया जाना है। कैबिनेट में 17 बिंदुओं पर चर्चा होगी। इसमें रेत खनन का मुद्दा सबसे प्रमुख है। नई रेत नीति में रेत खदान समूह को पांच साल पर ठेके पर देने का प्रस्ताव है।

इसके तहत प्रथम तीन साल में ठेका राशि में दस फीसदी और शेष दो सालों में 20 प्रतिशत के हिसाब से राशि बढ़ाई जाएगी। नर्मदा के अलावा अन्य नदियों में वहां के स्थानीय श्रमिकों की समिति से रेत खनन करवाया जाएग लेकिन बड़ी खदानों में मशीनों का उपयोग किया जा सकेगा। प्रस्तावित नीति के तहत राज्य खनिज निगम ठेकों को ऑनलाइन नीलाम करेगा।

विधायकों से पूछकर बनाई जाएं योजनाएं
वित्त और योजना आर्थिक सांख्यिकी मंत्री तरुण भानोत ने कहा कि विधानसभा क्षेत्रों में योजनाएं विधायकों से चर्चा कर बनाई जाएं। विधायकों के इन योजनाओं में शामिल होने से उनकी विधायक निधि का सही उपयोग हो सकेगा। पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल का कहना था कि जनहितैषी योजनाओं को लागू करने के लिए अभियान चलाया जाए।

तत्काल ताजा खबरों के लिए हमें फॉलो या Allow करें अथवा लाल घंटी बजाकर Subscribe करें. / यह न्यूज कैसी लगी, नीचे कमेंट बॉक्स में अपनी राय भी दें, आपका नाम, नम्बर, ईमेल शो नहीं किया जावेगा.

News Reporter
loading...
loading...
Join Group