पुलिस फायरिंग से जेल में 29 कैदी मरे

  • पुलिस ने बताया- आपस में भिड़ गए थे कैदी, पुलिस पर फेंके थे हथगोले
  • मानवाधिकार संगठनों ने कहा- यह नरसंहार

पुलिस के अनुसार कुछ कैदी जेल तोड़कर भागना चाहते थे, इस पर कैदियों के दो गुटों मेॆ खूनी संघर्ष हो गया जिसे रोकने के लिए गोली तलाना पड़ी, कैदियों ने भी पुलिस पर हथगोले फेंके।

इंटरनेशनल मीडिया में आ रही खबरों के अनुसार यह दु:खद घटना वेनेजुएला के अकारिगुआ शहर में हुई। खबर है कि, शनिवार को जेल में पुलिस और कैदियों के बीच भिड़ंत हो गई। इसमें 29 कैदी मारे गए, 19 पुलिसकर्मी जख्मी हुए। अधिकारियों का कहना है कि कैदी जेल तोड़कर भागना चाहते थे, तभी उनके दो गुट आपस में भिड़ गए। टकराव रोकने के लिए पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी। जवाब में कैदियों ने भी पुलिस पर हमला कर दिया।

मीडिया के अनुसार फायरिंग के बीच भागती एक कैदी

नागरिक रक्षा सचिव ऑस्कर वलेरो ने कहा कि कैदियों की ओर से पुलिस पर तीन ग्रेनेड फेंके। हालांकि, मानवाधिकार संगठनों ने पुलिस के दावों पर सवाल उठाए हैं। वेनेजुएला जेलों की स्थिति पर नजर रखने वाली संस्था प्रिजन ऑब्जर्वेटरी के हमबर्टो प्रादो ने का कहना है कि पुलिस से भिड़ंत में सिर्फ कैदी ही क्यों मारे गए? अगर जेल में हथियार थे तो वह अंदर पहुंचे कैसे?

प्रादो के मुताबिक, कैदी काफी समय से मांग कर रहे थे कि उन्हें दूसरी जेलों में ट्रांसफर न किया जाए, क्योंकि इसके बाद वे अपने रिश्तेदारों से नहीं मिल पाएंगे। वेनेजुएला में जेल की क्षमता से ज्यादा कैदी भरे होने का मुद्दा काफी समय से उठता रहा है। घटना के बाद अफसरों ने कैदियों के पास हथियार होने की आशंका में जेलों का निरीक्षण किया।

तत्काल ताजा खबरों के लिए हमें फॉलो या Allow करें अथवा लाल घंटी बजाकर Subscribe करें. / यह न्यूज कैसी लगी, नीचे कमेंट बॉक्स में अपनी राय भी दें, आपका नाम, नम्बर, ईमेल शो नहीं किया जावेगा.

loading...