गोडसे की विचारधारा जीती; चुनाव बाद बोले दिग्विजय सिंह

दिग्विजय सिंह ने भोपाल से चुनाव हारने के बाद शुक्रवार को पहली प्रेसवार्ता में कहा कि – देश में गोडसे की विचारधारा की जीत हुई है, गांधी की विचारधारा हारी है। उन्होंने कहा कि वोटों की गिनती से पहले सभी को मेरी जीत पक्की लग रही थी। मेरे पास कई बीजेपी नेताओं के बधाई संदेश आए थे।

भोपाल. लोकसभा चुनाव के परिणामों ने जहां केंद्र में पूर्ण बहुमत से मोदी सरकार का रास्ता साफ कर दिया है, वहीं कई बड़े दिग्गजों को गुरुवार के नतीजों से झटका भी लगा है। ऐसी ही एक सीट है भोपाल, जहां से कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह की साढ़े 3 लाख से ज्यादा वोटों से हार हुई। नतीजे के बाद मीडिया के सामने आए दिग्विजय सिंह ने चुनाव परिणामों को उम्मीदों के विपरीत बताया।

उन्होंने कहा- ‘आज इस देश में महात्मा गांधी के हत्यारे गोडसे की विचारधारा की जीत हुई है और गांधी की विचारधारा हारी है। मेरे लिए मेरी हार से ज्यादा चिंता की बात यह है।’ उन्होंने बीजेपी की इतनी बड़ी जीत पर हैरानी जताते हुए कहा कि यह एक आश्चर्यजनक बात है कि कैसे हर बार वोटिंग से पहले बीजेपी को नतीजों का पता होता है।

वोटिंग से पहले ही रिजल्ट की भविष्यवाणी कर देती है बीजेपी:
उन्होंने कहा कि, एक बात आश्चर्यजनक है कि 2014 में जब चुनाव हुआ तो बीजेपी का नारा था 280 पार, वह हो गया। इस बार नारा था 300 पार, वह भी हो गया। मुझे समझ नहीं आता कि उनके पास कौन सी जादू की छड़ी है कि वोट पड़ने से पहले ही वे रिजल्ट की भविष्यवाणी कर देते हैं। वाकई वे इस बात के लिए बधाई के पात्र हैं।’

शुरुआत से ही मेरी जीत पक्की लग रही थी:
चुनाव अभियान में किसी चूक के सवाल पर उन्होंने कहा, ‘कोई चूक नहीं हुई है। वोटों की गिनती से पहले सभी को मेरी जीत पक्की लग रही थी। मेरे पास कई बीजेपी नेताओं के बधाई संदेश आए, लेकिन जो नतीजे आए हैं वे सबके सामने हैं।’

मित्रों, वाट्सएप पर खबरें खबरें पढ़ने के लिए स्क्रीन पर दिख रहे वाट्सएप के निशान पर क्लिक करें. अगर तत्काल ताजा खबरें चाहें तो फॉलो करें या लाल घंटी बजाकर Subscribe करें. आप हमारा नम्बर 9993069079 अपने वाट्सएप ग्रुप में भी जोड़ सकते हैं. नीचे कमेंट बॉक्स में अपनी राय भी दे सकते हैं, आपका नाम, नम्बर, ईमेल शो नहीं किया जावेगा. यह सब बिलकुल मुफ्त है.

loading...