चचेरी बहिन ने लगाया अभिनेता जितेन्द्र पर यौन उत्पीड़न का आरोप, हाईकोर्ट ने रद्द की FIR

मुम्बई. हाईकोर्ट ने एक्टिंग छोड़ चुके मशहूर अभिनेता जितेंद्र के खिलाफ दर्ज यौन उत्पीड़न मामले की प्राथमिकी (एफआईआर) रद्द कर दी है। न्यायाधीश अजय मोहन गोयल ने अभिनेता जितेंद्र की ओर से दायर याचिका के तथ्यों व इस मामले से जुड़े रिकॉर्ड का अवलोकन करने के बाद यह फैसला सुनाया।

बॉलीवुड में जितेंन्द्र नाम से मशहूर रवि कपूर की ओर से दायर याचिका में दिए तथ्यों के अनुसार गत 16 फरवरी में महिला पुलिस थाना शिमला के समक्ष भारतीय दंड संहिता की धारा 354 के तहत प्रार्थी अभिनेता के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी।

जानकारी के अनुसार जितेंद्र की चचेरी बहन ने ही 47 साल पहले घटी कथित घटना को लेकर उन पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए थे। इसके बाद जितेंद्र ने हाईकोर्ट के समक्ष याचिका दायर कर् इस एफआईआर को रद्द करने की गुहार लगाई थी।

प्रार्थी जितेन्द्र की ओर से दलील दी गई थी कि यह प्राथमिकी उसे ब्लैकमेल करने के इरादे से दर्ज की गई है। कथित घटना के 47 वर्ष बाद दर्ज इस एफआईआर में देरी के कारणों का कोई स्पष्टीकरण नहीं दिया गया है। प्रार्थी ने कहा था कि एफआईआर में न तो शिमला में की गई फिल्म की शूटिंग के नाम का और न होटल के नाम का उल्लेख किया गया है। दो सह अभिनेताओं के नाम भी प्राथमिकी में नहीं लिखे गए हैं।

प्रार्थी के अनुसार उसके खिलाफ झूठे आरोप लगाए गए हैं। इस कारण प्रार्थी ने अदालत से यह एफआईआर रद्द करने की गुहार लगाई थी। न्यायालय ने प्रार्थी की दलीलों को कानूनन व न्याय संगत मानते हुए उसके पक्ष में निर्णय सुनाया।

मित्रों, वाट्सएप पर खबरें खबरें पढ़ने के लिए स्क्रीन पर दिख रहे वाट्सएप के निशान पर क्लिक करें. अगर तत्काल ताजा खबरें चाहें तो फॉलो करें या लाल घंटी बजाकर Subscribe करें. आप हमारा नम्बर 9993069079 अपने वाट्सएप ग्रुप में भी जोड़ सकते हैं. नीचे कमेंट बॉक्स में अपनी राय भी दे सकते हैं, आपका नाम, नम्बर, ईमेल शो नहीं किया जावेगा. यह सब बिलकुल मुफ्त है.

loading...