ग्वालियर में मनाई गई, बापू के हत्यारे गोड़से की जयंती

ग्वालियर . हिंदू महासभा ने रविवार 19 मई को यहां हिंदू महासभा कार्यालय में नाथूराम गोडसे की जयंती मनाई है. इस दौरान सभा के सदस्यों ने गोडसे की तस्वीर की आरती की और परिचर्चा का आयोजन किया. इसके साथ ही इस मौके पर सभा के सदस्यों ने लोगों के बीच मिठाइयां भी बाटीं और नाथूराम गोडसे की जयंती की शुभकामनाएं दीं.

खबर है कि, इस मौके पर गायत्री मंत्र का 21 बार जाप किया गया. हिंदू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष का कहना है कि 70 साल मैं कभी ऐसा माहौल देखने को नहीं मिला, जहां राजनेता अपनी भाषा शैली की मर्यादा को पूरी तरह से खो चुके हैं. विरोधी दल पहले भी थे और विरोधी दल आज भी हैं.

उन्होंने कहा कि जिस तरह से जिला प्रशासन द्वारा नाथूराम गोडसे की मूर्ति को पार्टी कार्यालय से हटवा दिया गया था यदि, 15 नवंबर तक जिला प्रशासन द्वारा नाथूराम गोडसे की मूर्ति को वापस नहीं किया जाता तो हिंदू महासभा के सभी कार्यकर्ता वचनबद्ध होकर उसी स्थान पर दोबारा से मूर्ति की पुनर्स्थापना करेंगे. सियासी माहौल में हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष का यह बयान आने वाले दिनों में सियासत की गर्मी को और भी तेज कर सकता है.

मालूम हो कि, कमल हासन द्वारा गोड़से को देश का पहला हिंदू आतंकवादी कहे जाने के बाद भोपाल से भाजपा की लोकसभा प्रत्याशी प्रज्ञा ठाकुर ने उसे देशभक्त कहकर देश का माहौल खराब कर दिया है. देशभर में इस पर बहस जारी है.

उल्लेखनीय है कि, पूर्व में हिंदू महासभा द्वारा कार्यालय में गोड़से की मूर्ति की स्थापना करने पर प्रशासन ने मूर्ति जप्त कर ली थी, इधर देश भर में यह मुद्दा गर्म है, इसके वाबजूद जयंती मना ली गई, शायद प्रशासन चुनाव कार्य में व्यस्त रहा, हिन्दू महासभा ने इसका लाभ उठा लिया. आज आम चुनाव के सातवें और अंतिम चरण का मतदान था.

मित्रों, वाट्सएप पर खबरें खबरें पढ़ने के लिए स्क्रीन पर दिख रहे वाट्सएप के निशान पर क्लिक करें. अगर तत्काल ताजा खबरें चाहें तो फॉलो करें या लाल घंटी बजाकर Subscribe करें. आप हमारा नम्बर 9993069079 अपने वाट्सएप ग्रुप में भी जोड़ सकते हैं. नीचे कमेंट बॉक्स में अपनी राय भी दे सकते हैं, आपका नाम, नम्बर, ईमेल शो नहीं किया जावेगा. यह सब बिलकुल मुफ्त है.

loading...