किसानों से ठगी करने वालों को पकड़ने शुरू होगा अभियान

रायपुर. किसानों को ऋण पत्र या अन्य माध्यमों से कर्ज दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी और ठगी करने वाले लोगों व गिरोहों पर कड़ी कार्रवाई करने हेतु छत्तीसगढ़ पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी ने प्रदेश पुलिस के सभी अफसरों व थाना प्रभारियों को निर्देश दिए हैं। इस सम्बंध में पुलिस महानिदेशक ने प्रदेश के सभी जिला पुलिस अधीक्षकों को एक पत्र भेजा है। इसके साथ ही प्रदेश के सभी थाना प्रभारियों को भी हिदायत दी है।

डीजीपी ने स्थानीय मीडिया एवं अन्य स्रोतों के माध्यम से आ रही ठगी की घटनाओं से जाना है कि, प्रदेश में कुछ ऐसे ठग गिरोह व व्यक्ति सक्रिय हैं जो किसानों को किसान ऋणपत्र, या अन्य माध्यम से ऋण दिलाने का प्रलोभन देकर उनसे दस्तावेज पर अगूंठा निशान या हस्ताक्षर ले लेते हैं। ऐसे किसान सामान्य तौर पर कम पढ़े-लिखे या निरक्षर होते हैं।

जब भोले किसान के प्रलोभन से प्रभावित होकर ऋण दस्तावेज पर हस्ताक्षर कर देते हैं। इसके बाद ठग व्यक्ति किसान की सारी राशि हड़प लेता है। या उन्हें ऋण राशि की कुछ छोटी-मोटी रकम दे दी जाती है। किसानों को वास्तविक ऋण की कोई जानकारी नहीं होती है और भविष्य में ऋण राशि ब्याज के साथ काफी बड़ी राशि में बदल जाती है।लेकिन जब संबंधित किसान को कर्ज के भुगतान के लिए व्यक्ति या संस्था की ओर से नोटिस जाती है साथ ही उनके खिलाफ अदालत में दीवानी या आपराधिक मुकदमा चलता है।

पुलिस महानिदेशक ने कहा है कि यह स्थिति अत्यंत गंभीर है। इससे ग्रामीण क्षेत्र के भोले-भाले एवं कम पढ़े-लिखे किसान गंभीर रूप से प्रभावित होते हैं। डीजीपी ने इस मामले को लेकर प्रदेश के सभी थाना प्रभारियों को खास हिदायत देते हुए कहा है कि वे अभियान चलाकर ऐसे व्यक्तियों या गिरोह के खिलाफ सख्त कार्यवाही करें।

डीजीपी ने कहा है कि, किसान यदि इस प्रकार के मामलों की शिकायत करते हैं तो गंभीरता पूर्वक उसकी सूक्ष्म जांच करें। यह पत्र रेलवे पुलिस अधीक्षक के साथ सभी रेंज महानिरीक्षकों, को भी भेजा गया है।

दोस्तों, रापाज न्यूज की सभी नई खबरें तत्काल पाने के लिए ऊपर फॉलो का बटन दवाऐं या नीचे लाल घंटी बजाकर Subscribe करें अथवा ALLOW पर दो बार क्लिक करें. वाट्सएप पर खबरें पढ़ने के लिए स्क्रीन पर दिख रहे वाट्सएप पर क्लिक करें. आप हमारा नम्बर 9993069079 अपने वाट्सएप ग्रुप में भी जोड़ सकते हैं. यह सब बिलकुल मुफ्त है. धन्यवाद.

loading...