प्रज्ञा ने गोड़से को बताया देशभक्त, बीजेपी बोली माफी मांगो तो फिर पलटी बयान से

मालेगांव बम धमाके से चर्चा में आई साध्वी रूप में चर्चित और अब भोपाल से बीजेपी की लोकसभा प्रत्याशी प्रज्ञा ठाकुर एक बार फिर राष्ट्रप्रेमियों की आलोचना के केन्द्र में हैं। इस बार प्रज्ञा ने एक बयान देकर फिल्म अभिनेता कमल हासन के बयान से उपजे विवाद की आग में घी डाला है। प्रज्ञा ने महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोड़से को देशभक्त बताया है, कुछ दिन पहले ही उन्होंने शहीद पुलिस अधिकारी हेमंत करकरे को लेकर भी अशोभनीय बयान दिया था।

मालूम हो कि, कमल हासन ने कुछ दिन पहले कहा है कि महात्मा गांधी का हत्यारा नाथूराम गोडसे पहला हिंदू आतंकी था। उनके इस बयान पर राजनीति गरमा गई और वह अदालत के चक्कर लगा रहे हैं। इधर उनके बयान पर प्रतिक्रिया जताते हुए साध्वी प्रज्ञा सिंह ने कहा कि नाथूराम गोडसे देशभक्त थे और देशभक्त रहेंगे। प्रज्ञा सिंह के इस बयान के बाद सियासत गरमा गई। कांग्रेस पार्टी के अलावा पूरे देश में जबरदस्त आलोचना शुरु हो गई।

चुनावी माहौल में प्रज्ञा सिंह के बयान पर बीजेपी चिंता में पड़ गई और उनसे माफी की मांग की। इसके बाद अपने बयान से मुकरते हुए प्रज्ञा सिंह ने कहा कि वो पार्टी की अनुशासित सिपाही हैं और पार्टी के साथ हैं। उनकी बीजेपी में निष्ठा है, नाथूराम गोडसे के मुद्दे पर जो पार्टी की सोच है उस सोच का वो समर्थन करती हैं।

नाथूराम गोडसे पर प्रज्ञा ठाकुर के बयान पर कांग्रेस के कद्दावर नेता दिग्विजय सिंह ने निशाना साधा। उन्होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी, अमित शाह और राज्य बीजेपी के अध्यक्ष को बयान देना चाहिए। नाथूराम गोडसे देशभक्त नहीं बल्कि देशद्रोही था। प्रज्ञा ठाकुर का बयान देशभक्ति वाला बयान नहीं है बल्कि देशद्रोह का मामला बनता है। इसके बाद तो पूरे देश में ही उन पर देशद्रोह का मामला बनाने की मांग चल पड़ी।

दोस्तों, रापाज न्यूज की सभी नई खबरें तत्काल पाने के लिए ऊपर फॉलो का बटन दवाऐं या नीचे लाल घंटी बजाकर Subscribe करें अथवा ALLOW पर दो बार क्लिक करें. वाट्सएप पर खबरें पढ़ने के लिए स्क्रीन पर दिख रहे वाट्सएप पर क्लिक करें. आप हमारा नम्बर 9993069079 अपने वाट्सएप ग्रुप में भी जोड़ सकते हैं. यह सब बिलकुल मुफ्त है. धन्यवाद.

News Reporter
loading...
loading...
Join Group