करंट लगने से हो गयी थी श्रमिक पिता की मौत,

बलौदाबाजार. एक मजदूर की आकस्मिक मृत्यु के बाद अनाथ हुई उसकी दोनों बच्चियों का भविष्य अब सुरक्षित हो गया है। जिला प्रशासन पहल और श्री सीमेंट कम्पनी की सकारात्मकता के चलते ग्राम ढनढनी निवासी गुमान रजक की बेटियों ऐश्वर्या रजक (04 वर्ष) और खुशबू रजक (07 माह) के नाम से श्री सीमेंट द्वारा दस-दस लाख रूपए की एफ.डी. कराई गई। साथ ही कर्मचारी राज्य बीमा निगम की योजना के तहत मृतक की पत्नी को आजीवन लगभग 12 हजार रूपए की पेंशन और कर्मचारी भविष्य निधि संगठन की ई.डी.एल.आई. योजना के तहत ढाई लाख रूपए की राशि एकमुश्त देना तय हुआ।

इससे पहले भी गुमान रजक की मौत के बाद श्री सीमेंट प्रबंधन द्वारा मृतक के परिवार को पचास हजार रूपए की तात्कालिक सहायता भी दी गई थी। बीते 13 अप्रैल को फैक्ट्री में कार्यरत गुमान की करंट लगने से मृत्यु हो गई थी।

उल्लेखनीय है कि निजी क्षेत्र में संचालित श्री सीमेंट के निर्माणाधीन आवासीय परिसर में काम करने के दौरान जी.डी.सी.एल.कंपनी के संविदा श्रमिक गुमान रजक की मौत ड्रिल मशीन से करंट लगने से हो गई थी। बलौदाबाजार तहसील कार्यालय में तहसीलदार गौतम सिंह की उपस्थिति में मंगलवार को मृतक की पत्नी गायत्री बाई रजक को दोनों बेटियों के लिए 10-10 लाख रूपए के एफ.डी. का प्रमाण-पत्र प्रदान किए गए। श्री सीमेंट संयंत्र के प्रमुख रवि तिवारी और राजेश शर्मा ने बताया कि मृतक की दो बेटियों के नाम से की गई एफ.डी. के परिपक्व होने के बाद उन्हें लगभग 75 लाख रूपए की राशि मिलेगी।

मृतक की पत्नी के निवेदन पर बेटियों के 18 वर्ष होने तक की अवधि के लिए एफ.डी.कराई गई है। उन्होंने बताया कि श्री सीमेन्ट द्वारा निर्मित स्कूल में मृतक की पत्नी को योग्यता अनुसार रोजगार देने के लिए प्राथमिकता भी दी जाएगी। इस दौरान संयंत्र के डीजीएम अनिल कुमार पाठक और मृतक के परिवार के अन्य सदस्य भी मौजूद थे।

दोस्तों, रापाज न्यूज की सभी नई खबरें तत्काल पाने के लिए ऊपर फॉलो का बटन दवाऐं या नीचे लाल घंटी बजाकर Subscribe करें अथवा ALLOW पर दो बार क्लिक करें. वाट्सएप पर खबरें पढ़ने के लिए हमारा नम्बर 9993069079 अपने मोबाइल में सेव करके Hi या Hello करें. इसे अपने वाट्सएप ग्रुप में भी जोड़ सकते हैं. यह सब बिलकुल मुफ्त है. धन्यवाद.

Leave a Comment