धनवर्षा के लालच में महिला ने खास पूजा के लिए जब तांत्रिक के कहने पर उतारे कपड़े

उज्जैन. क्षिप्रा नदी के तट पर बसा उज्जैन महाकाल की नगरी के लिए पूरी दुनियां में जाना जाता है. ऐसे में यहां साधु, संतों व तांत्रिकों आदि का होना स्वाभाविक है. किंतु, इनके बीच में कुछ ढोंगी व अपराधी किस्म के लोग भी शामिल हैं. यह मामला भी एक ऐसे ही तांत्रिक वेषी अपराधी से सम्बंधित है.

जानकारी के अनुसार अपने घर में धन की बरसात कराने के लालच में श्रीकृष्ण नगर निवासी एक महिला किसी तरह संजय नगर निवासी एक तांत्रिक से मिली. तांत्रिक ने उसे दो वीडियो दिखाऐ, जिनमें उसकी तांत्रिक पूजा के बाद नोट बरस रहे थे. यह देखकर महिला को तांत्रिक की सिद्धि पर विश्वास हो गया, उसने मान लिया कि, जैसी उसके परिचित ने बताया था- तांत्रिक वैसा ही सिद्ध पुरुष है.

इसके बाद कुछ और मुलाकातें भी महिला ने तांत्रिक के दरबार में पहुंचकर कीं, जो उसके घर में ही है. कुछ दिन बाद महिला ने तांत्रिक को उसके द्वारा पूजन सामग्री आदि के लिए मांगे गए पचास हजार रुपए दे दिए. तांत्रिक ने पूरी प्रक्रिया आदि समझा दी तथा पूजा के लिए बीते मंगलवार की रात का मुहूर्त बताया.

सब कुछ तय होने के बाद, मुहूर्त अनुसार तांत्रिक महिला के घर आ गया. महिला के घर में लक्ष्मी प्राप्ति के लिए लक्ष्मीजी की खास पूजा की तैयारी पहले से ही थी. पूजा आरंभ करने के साथ ही महिला का पति व तीनों बच्चे कमरे से बाहर निकल गए. कमरे में केवल महिला व तांत्रिक ही रह गए.

इस आशय के निर्देश तांत्रिक पहले ही दे चुका था कि, लक्ष्मी पूजा गुप्त रूप से की जाती है, देवी पूजा में पुरुष का होना सही नहीं, तांत्रिक तो मजबूरी में रहता है वर्ना पूजा कौन कराए. तांत्रिक ने यह भी पहले ही कह दिया था कि, इस पूजा के दौरान किसी के भी शरीर पर कोई वस्त्र नहीं होना चाहिए.

अपने ऐसे निर्देशों के पालन में महिला के पति व बच्चों के कमरे से बाहर निकलते ही तांत्रिक अपने वस्त्र उतारने लगा और महिला से भी वैसा ही करने को कहा. तांत्रिक तो पूर्णत: नग्न हो गया किंतु, महिला को झिझक हुई उसने पूरे कपड़े न उतारे तो तांत्रिक ने उसे पूजा भंग होने और देवी के नाराज होने का डर दिखाया, फिर भी महिला पूरी नग्न न हुई तो तांत्रिक ने उसे पकड़कर नग्न करने की कोशिश की और साथ ही अश्लील हरकत भी करने लगा.

महिला उसके कुत्सित इरादे भांप गई तो चिल्ला पड़ी, उस समय उसका पति व बच्चे बगल के कमरे में धनवर्षा के इंतजार में थे ही. महिला की पुकार सुन वह तत्काल आकर दरवाजा पीटने लगे. तब तांत्रिक ने अपने कुछ कपड़े पहने और कुछ हाथ में लिए तथा महिला व उसके पति को पूजा भंग होने व देवी की नाराजगी का डर दिॆखाते हुए निकल गया.

जब तक माजरा समझ पाता तब तक तो वह फरार हो चुका था. उसके जाने के कुछ देर बाद महिला ने पति के बार बार पूछने पर तांत्रिक द्वारा उसके साथ की गई गंदी हरकत की जानकारी दी. उस समय रात बहुत हो चुकी थी. इसलिए पुलिस को तत्काल सूचना नहीं दी गई.

नोट: कहानी मीडिया में आई खबरों व जनचर्चा पर आधारित, सभी नाम काल्पनिक और चित्र गूगल से लिए गए हैं. रापाज न्यूज इस कहानी की सत्यता का दावा नहीं करता. इसके प्रकाशन का उद्देश्य जन सामान्य को ढोंगियों से सावधान करना मात्र है.

दोस्तों, रापाज न्यूज की सभी नई खबरें तत्काल पाने के लिए ऊपर फॉलो का बटन दवाऐं या नीचे लाल घंटी बजाकर Subscribe करें अथवा ALLOW पर दो बार क्लिक करें. वाट्सएप पर खबरें पढ़ने के लिए हमारा नम्बर 9993069079 अपने मोबाइल में सेव करके Hi या Hello करें. इसे अपने वाट्सएप ग्रुप में भी जोड़ सकते हैं. यह सब बिलकुल मुफ्त है. धन्यवाद.

News Reporter
loading...
loading...
Join Group