साधु वेशधारी को बलात्कार के जुर्म में उम्रकैद, 1 लाख जुर्माना भी

बलात्कार के आरोप में जेल में बंद आसाराम के बेटे नारायण साईं को भी इसी घिनौने जुर्म में हुई उम्रकैद

नई दिल्ली. गुजरात के सूरत रेप केस में नारायण साईं को सेशन कोर्ट ने दोषी करार दिया है। कोर्ट ने नारायण साईं को रेप के मामले में उम्र कैद की सजा सुनाई है। साथ ही उस पर एक लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया है। मालूम होगा कि, नारायण के पिता आशाराम भी ऐसे ही मामले में जेल में है। आशाराम पर एक नाबालिग से यौनाचार का आरोप है।

सूरत रेप केस में पुलिस ने दो पीड़ित बहनों के बयान और लोकेशन से मिले सबूतों के आधार पर केस दर्ज किया था। आसाराम के खिलाफ गांधीनगर के कोर्ट में भी मामला चल रहा है। दोनों के खिलाफ रेप का यह केस करीब 11 साल पुराना है।

पीड़ित छोटी बहन ने अपने बयान में नारायण साईं के खिलाफ ठोस सबूत देते हुए हर लोकेशन की पहचान की जबकि बड़ी बहन ने आसाराम के खिलाफ मामला दर्ज करवाया था। नारायण साईं के खिलाफ 53 गवाहों ने कोर्ट में बयान दिया था। जिन्होंने उसे कई बार रेप करते हुए देखा था।

मालूम हो कि स्वाधीनता पूर्व पाकिस्तान में जन्मे आशाराम के देश विदेश में 450 से अधिक छोटे बड़े आश्रम और करोड़ों अनुयायी अब भी है। उसका पुत्र नारायण साईं उसका एक प्रमुख अनुयायी होकर खुद भी संत कहलाने लगा था और आशाराम का बारिश भी था।

नारायण साईं अपने पिता आशाराम की धर्म उपदेशक की गद्दी तक तो न पहुंच सका लेकिन पिता जैसे ही घिनौने कर्म के फलस्वरूप अपराधी बन गया और अब पिता पुत्र दोनों को बाकी जिंदगी जेल में ही गुजारना होगी।

दोस्तों, रापाज न्यूज की सभी नई खबरें तत्काल पाने के लिए ऊपर फॉलो का बटन दवाऐं या नीचे लाल घंटी बजाकर Subscribe करें अथवा ALLOW पर दो बार क्लिक करें. वाट्सएप पर खबरें पढ़ने के लिए हमारा नम्बर 9993069079 अपने मोबाइल में सेव करके Hi या Hello करें. इसे अपने वाट्सएप ग्रुप में भी जोड़ सकते हैं. यह सब बिलकुल मुफ्त है. धन्यवाद.

loading...