16-18 की उम्र में सहमति से बने सम्बंध भी अब अपराध नहीं

चेन्नई. आने वाले समय में 16 से 18 साल की उम्र के लड़के न लड़की के बीच आपसी सहमति से बनने वाले शारीरिक सम्बंध अपराध से बाहर हो सकते हैं.

दरअसल, शुक्रवार को मद्रास हाईकोर्ट ने एक महत्वपूर्ण सुझाव देते हुए कहा है कि, “16 से 18 साल तक के लड़के – लड़की के बीच सहमति से बने सम्बंध पॉक्सो एक्ट के दायरे में नहीं आने चाहिए। इन सम्बंधों को अप्राकृतिक या विपरीत लिंग वालों के बीच बने सम्बंधों से अलग नहीं माना जा सकता।” कोर्ट ने राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग और सामाजिक रक्षा आयुक्त को यह मुद्दा उपयुक्त अथॉरिटी के समक्ष रखने को कहा।

मद्रास हाई कोर्ट के माननीय जस्टिस वी पथिबन ने एक किशोर की याचिका पर फैसला देते हुए यह सुझाव दिया। किशोर पर 17 साल की किशोरी को अगवा कर यैन हमले के आरोप में महिला अदालत ने जून 2018 में दस साल की सजा दी थी।

जस्टिस बी पथिबन ने पॉक्सो एक्ट में उदार प्रावधान जोड़ने के लिए भी कहा, साथ ही यह भी कहा कि, इस उम्र की लड़की से सम्बंध बनाने वाला उससे 5 साल से ज्यादा बड़ा न हो ताकि, वह लड़की की मासूमियत या अपने प्रभाव का गलत लाभ न उठा सके। (गूगल इमेज)

दोस्तों, रापाज न्यूज की सभी नई खबरें तत्काल पाने के लिए ऊपर फॉलो का बटन दवाऐं या नीचे लाल घंटी बजाकर Subscribe करें अथवा ALLOW पर दो बार क्लिक करें. वाट्सएप पर खबरें पढ़ने के लिए हमारा नम्बर 9993069079 अपने मोबाइल में सेव करके Hi या Hello करें. इसे अपने वाट्सएप ग्रुप में भी जोड़ सकते हैं. यह सब बिलकुल मुफ्त है. धन्यवाद.