भिण्ड – मुरैना को अलग – अलग नहीं किया जा सकता

श्रीगोपाल गुप्ता 
मुरैना से भिण्ड को और भिण्ड से मुरैना को अलग नहीं किया जा सकता है दोनों का नाम आज भी पूरे देश और यहां तक की दुनिया में एक साथ भिण्ड-मुरैना लिया जा सकता है और यही दोनों वीरभूमि की अकाट्य पहचान भी है। यह कहना मुरैना-श्योपुर संसदीय क्षेत्र में कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी के समीकरणों को गड़बड़ा देने वाले और बहुजन समाज पार्टी से मुरैना-श्योपुर के उम्मीदवार पूर्व सांसद व भिण्ड निवासी डाॅ. रामलखन कुशवाह का। वे लेखक के साथ अन औपचारिक बातचीत में खुद के लिये बाहरी संबोधन का खंडन कर रहे थे।

उन्होने स्पष्ट कहा कि मुरैना -भिण्ड के निवासी व उम्मीदवार एक -दूसरे के क्षेत्र में बाहरी नहीं हो सकते।जिसका सबसे बड़ा उदाहरण है कि पूर्व सांसद और मुरैना नगर निगम के वर्तमान महापौर अशोक अर्गल को 2009 में भिण्ड -दतिया संसदीय क्षेत्र की जनता ने बाहरी उम्मीदवार न मानते हुये उन्हें संसद में अपना प्रतिनिधि बना कर भेजा था तो फिर मैं बाहरी कैसे हो सकता हूँ। सन् 1996  से लेकर लगातार 2009 तक कुशवाह भाजपा के झण्डे तले चार मर्तबा भिण्ड से सांसद चुने गये थे, इसके बाद 2009 में नये परिसीमन में भिण्ड -दतिया आरक्षित हो गई जबकि मुरैना-श्योपुर संसदीय क्षेत्र को अनारक्षित घोषित किया गया था।

इसके बाद भाजपा में यह तय किया गया कि मुरैना सांसद अशोक अर्गल को भिण्ड से लड़ाया जाये और भिण्ड सांसद डाॅ. कुशवाह को मुरैना से, मगर पार्टी ने उनके साथ ना-ईंसाफी करते हुये अर्गल को भिण्ड से सांसद बनवा दिया जबकि उनकी उपेक्षा कर अपमानित करने का काम किया। इसके बाद 2013 में डाॅ. कुशवाह भाजपा से दूर होकर बसपा में सम्मिलित हो गये। वर्तमान में उनके सुपुत्र एंव पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष भिण्ड संजीव कुशवाह (संजू?)बसपा के बैनर तले भिण्ड से ही विधायक हैं, जो हाल ही सपन्न हुये राज्य विधानसभा में अंचल में सबसे अधिक वोटों से जीत दर्ज कराने वाले विधायक भी हैं। 

पाकिस्तान के खिलाफ हुई एयर स्ट्राइक में भाजपा को मिलने वाले लाभ पर बोलते कुशवाह ने कहा कि जब देश पर पुलवामा जैसा आंतकी हमला हुआ था, तब पूरा विपक्ष और देश सरकार व सैना के साथ खड़ा हुआ था। मगर कोई पार्टी या राजनीतिक दल शहीदों की शहादत पर वोट की राजनीति करेगी तो बसपा इसका कड़ाई से विरोध करेगी।मुरैना-श्योपुर की जागरुक जनता सब जानती है और पांच साल में देश का किसान, जवान, मजदूर, व्यापारी और आम आदमी परेशान हो गया है और भाजपा को हराने के लिए तैयार है। मुरैना-श्योपुर में पिछले सत्तर साल कांग्रेस व भाजपा के सांसद यहां से चुने जाते रहे हैं फिर यहां का समुचित विकास नहीं हो पाया है।

उनका स्पष्ट कहना था कि जो भी विकास यहां हुआ है, वो केवल मुरैना मुख्य लाइन से जुड़ा है, इस नाते रहा है। गत विधानसभा चुनाव में बहुजन समाज पार्टी के परंपरागत मतदाताओं का बड़ी संख्या में कांग्रेस में जाने के सवाल पर डाॅ. रामलखन कुशवाह ने स्पष्ट किया कि विधानसभा चुनाव में बसपा का मतदाता भाजपा के 15 के कुशासन से भारी नाराज था, इसलिये जहां उसे भाजपा को हराने वाला प्रत्याशी दिखा वहां उन्होने उसे वोट दे दिया। मगर लोकसभा चुनाव में ऐसी कोई बात नहीं है क्योंकि बसपा के मतदाताओं को मालुम है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ पूरा देश गुस्से में और त्रिशंकु संसद की संभावना बन रही हैं।ऐसे में विपक्ष में केवल एक ही नाम है बहन मायावती जिनको प्रधानमंत्री बनाने पर सम्पूर्ण विपक्ष सहमत हो सकता है, इसलिये बहुजन समाज बहन मायावती के नाम पर वोट करेगा।

बहरहाल अभी भले ही आम चुनाव की तारीखें आयोग द्वारा घोषित कर दी हों, मगर डाॅ. रामलखन कुशवाह के अलावा कांग्रेस, भाजपा ने अभी तक अपने उम्मीदवार घोषित नहीं किये हैं। इसलिये चुनाव परिणामों के बारे में अभी कहना मुश्किल है कि कोन बनेगा मुरैना-श्योपुर संसदीय क्षेत्र का सरताज? और डाॅ. कुशवाह को कितना स्वीकार किया जायेगा!ये 23 मई को चुनाव परिणाम आ जाने के बाद ही पता चलेगा।मगर इतना तय है कि डाॅ. कुशवाह के साथ-साथ ये बसपा की भी परीक्षा है। – श्रीगोपाल गुप्ता  स्वतंत्र पत्रकार हैं, निजी विचार हैं।

दोस्तों, यह आर्टीकल आपको कैसा लगा, कृपया नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर बताऐं. अगर आप ऐसी ही खबरें तत्काल पाना चाहें तो कृपया ऊपर फॉलो का बटन दवाऐं या नीचे लाल घंटी बजाऐं. अपने वाट्सएप पर खबरें पढ़ने के लिए हमारे नम्बर 9993069079 पर Hi / Hello या Miscall करें. यह नम्बर आप अपने वाट्सएप ग्रुप में भी जोड़ सकते हैं. धन्यवाद.

loading...
News Reporter
इस वेबसाइट व यू ट्यूब चैनल के लगभग सभी खबरें तथा वीडियो आदि Dailyhunt, Google News, NewsDog, NewsPoint एवं UC News पर भी उपलब्ध हैं इसमें ज्यादातर चित्र सांकेतिक रहते हैं तथा इंटरनेट व सोशल मीडिया से उपयोग किए जाते हैं, इसलिए हम किसी कॉपीराइट का दावा नहीं करते. सम्पर्क: Mobile / WhatsApp : 91-9993069079 E-Mail : rapaznewsco@gmail.com
loading...
loading...
Join Group