SDM को नहीं दिखा अवैध उत्खनन, ग्रामीणों ने शिकायत के साथ सौंपे वीडियो

दतिया. जिले की ग्राम पंचायतों के सरपंच-सचिव व पुलिस- प्रशासन से साठगांठ कर रेत खदानों से दबंग माफिया द्वारा रेत का अवैध उत्खनन करने का एक और मामला सामने आया है. गत दिवस आपको हम जिले के दतिया अनुभाग में शासन द्वारा की गई कार्रवाई की खबर दे चुके हैं.

यह खबर जिले के सेंवढ़ा अनुभाग की है. खास बात यह कि, ग्रामीणों द्वारा शिकायत करने और अवैध उत्खनन के फोटो व वीडियो भी पुलिस व प्रशासन को उपलब्ध कराए जाने के वाबजूद शासन को अवैेध उत्खनन दिखाई नहीं दे रहा. ऐसा हम नहीं कह रहे बल्कि, स्वयं सेंवढ़ा एसडीएम राकेश सिंह परमार ने यह स्वीकार किया है जो प्रदेश टुडे के गत 8 अप्रेल के वाट्सएप एडीशन में प्रकाशित हुआ है.

उल्लेखनीय है कि, भाजपा की शिवराज सिंह सरकार द्वारा ग्राम पंचायतों को स्वाबलम्बी बनाने और स्थानीय मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराने के उद्देश्य से रेत खदानों से उत्खनन के अधिकार ग्राम पंचायतों को दिए गए थे किंतु, ऐसा हुआ नहीं, सूत्रों की मानें तो उसी समय से वरिष्ठ सत्ताधारी नेताओं की सरपरस्ती में दबंग माफिया ने पूरे प्रदेश की खदानों पर कब्जे कर लिए. कहीं राजी तो कहीं मजबूरी के चलते पंचायत के सचिव व सरपंचों ने इसके लिए मोटी रकमें हासिल कीं.

उस समय शुरु हुई यह अवैध व्यवस्था सूबे में सत्ता बदलने के बाद भी कई जगह जारी है. इसी के चलते गत दिवस जिले के दतिया अनुभाग में प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई की थी लेकिन सेंवढ़ा अनुभाग में प्रशासन पर अनदेखी करने का आरोप लग रहा है.

जानकारी के अनुसार अवैध उत्खनन सम्बंधी एक वीडियो न केवल गांवों में वायरल हो रहा है बल्कि, एक लिखित शिकायत और कुछ फोटेज के साथ ग्रामीणों द्वारा एसडीएम को सौंपा गया है. वीडियो देखने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें:

दोस्तों, ऐसी ही खबरें तत्काल पाने के लिए ऊपर फॉलो का बटन दवाऐं या नीचे लाल घंटी बजाऐं. वाट्सएप पर खबरें पढ़ने के लिए हमारा नम्बर 9993069079 अपने मोबाइल में सेव करके Hi / Hello या Miscall करें. इसे अपने वाट्सएप ग्रुप में भी जोड़ सकते हैं. धन्यवाद.

loading...