सरपंच-सचिवों ने ही कराया खदानों पर दबंगों का कब्जा

दतिया । हनीफ खान
मजदूरों को रोजगार के साथ-साथ आम नागरिकों को सस्ते दामों पर रेत उपलब्ध हो सके और कम लागत में उनके आशियाने बन सकें, इस विचार से भाजपा शासनकाल में जिले में संचालित रेत खदानें पंचायतों को आवंटित की गई थीं, जिसकी रॉयल्टी नाम मात्र की ₹125 घन मीटर के हिसाब से बेचने का प्रावधान पंचायतों को सौंपा गया था और मुखिया पंचायत सचिवों व सरपंचों को बनाया गया था।

लेकिन सरपंचों और पंचायत सचिवों ने खनिज विभाग द्वारा आवंटित रेत खदानें बड़े दबंग रेत माफियाओं को बेच डाली। इस तरह इन्होंने व माफिया ने मिलकर जहां शासन के राजस्व को चूना लगाया, मजदूरों से रोजगार छीना, वहीं आम आदमी को महंगी रेत खरीदने को मजबूर किया और खुद कालाधन कमाया।

ऐसा ही एक बड़ा मामला दतिया जिले की उप तहसील बडौनी थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले ग्राम बडगोर छिरौली का है जहां जिला खनिज विभाग द्वारा बडगोर छिरौल पंचायत की रेत खदान वर्तमान सरपंच और सचिव को आवंटित कर दी गई, जिसके बाद सरपंच और सचिव ने रेत माफियाओं से ब्लैक मनी लेकर रेत खदानें उन माफियाओं को बेच डाली।

सूबे में सरकार बदलने के बाद इसकी शिकायत ग्रामीणों ने दतिया कलेक्टर आरपीएस जादौन से की गई। जिसके बाद माइनिंग और राजस्व विभाग हरकत में आया और मौका पाते ही आज मंगलवार को ग्राम पंचायत बडगौर छिरौली सिंध नदी घाट पर राजस्व विभाग की अधिकारी करुणा दंडोतिया नायब तहसीलदार वृत्त बड़ौनी और शशांक शुक्ला माइनिंग अधिकारी, खनिज निरीक्षक घनश्याम सिंह यादव ने संयुक्त रूप से छापामार कार्रवाई कर रेत खदान पर संचालित हो रही पोकलेन मशीन एवं अवैध रूप से रेत निकालने वाली पनडुब्बी, एक मोटरसाइकिल सहित 120 क्यूबिक मीटर जप्त किया है।

लेकिन कार्रवाई की सूचना मिलने पर रेत माफिया फरार हो गए। इसके अलावा माइनिंग और राजस्व विभाग द्वारा डंगरा कुआं पर भी संयुक्त कार्रवाई की गई जहां 50 क्यूबिक मीटर रेत को जप्त कर पंचनामा बनाकर पंचायत को शपथ की है।

मालूम हो कि, पूर्व में बड़ौनी की एक रेत खदान पर स्थानीय युवक का कत्ल भी हो चुका है, उस समय भी माफिया द्वारा ही घटना को अंजाम देने की खबरें सुनने को मिली थी।

दोस्तों, ऐसी ही खबरें तत्काल पाने के लिए ऊपर फॉलो का बटन दवाऐं या नीचे लाल घंटी बजाऐं. वाट्सएप पर खबरें पढ़ने के लिए हमारा नम्बर 9993069079 अपने मोबाइल में सेव करके Hi / Hello या Miscall करें. इसे अपने वाट्सएप ग्रुप में भी जोड़ सकते हैं. धन्यवाद.

1 Trackback / Pingback

  1. SDM को नहीं दिखा अवैध उत्खनन, ग्रामीणों ने शिकायत के साथ सौंपे वीडियो – Rapaz News

Comments are closed.

loading...