राह चलती विधवा को पकड़कर ले गए झाड़ियों में और तीनों रातभर लूटते रहे अस्मत

नशीले पदार्थों के अवैध कारोबार और महिला अपराध में पूरे प्रदेश में तेजी से आगे बढ़ते शिवपुरी जिले के सुभाषपुरा थाना क्षेत्र के ग्राम बारां में तीन दबंगों ने राह चलती एक मासूम को पकड़कर न केवल रातभर उसकी आबरू लूटते रहे बल्कि, विरोध करने पर मारपीट भी की। जिससे महिला गंभीर रूप से घायल हो गई।

महिला के अनुसार आरोपियों ने महिला के साथ बारी बारी से गैंगरैप की बारदात को अंजाम देते रहे। इस घटना में महिला इतनी डर गई कि आरोपीयों के डर से वह रात भर झांडियों के पीछे छुपी रही।

खबर के मुताबिक, सुबह उक्त महिला जैसे तैसे सहरिया क्रांति के संयोजक संजय बेचैन के यहां पहुंची, जो उसे एसपी के पास वे गए, तब कही मामले की शिकायत हो पाई।

जानकारी के अनुसार बारां गांव निवासी एक विधवा महिला शिवपुरी से घर गृहस्थी का सामान लेकर लौटी रही थी। शाम को जब वह करइ फाटक से गांव की ओर पैदल जा रही थी, तभी रस्ते में ग्राम रामपुरा मदेबा गांव के रामेश्वर गुर्जर (30) स्वरूपा गुर्जर (50) एवं उनका रिश्तेदार जशरथ गुर्जर निवासी बम्हारी मोटरसाइकल से आये एवं आते ही स्वरूपा ने कहा कि इतनी रात को कहां से आ रही है।

महिला ने बताया कि वह शिवपुरी से आ रही है उसके बाद आरोपी बोले की चल पहाड़िया की तरफ चल।  जब पीडिता ने मना किया तो आरोपी उसे जबरन घसीटकर ले जाने लगे।

विरोध करने पर जशरथ गुर्जर ने सिर पर लाठी मारी जिससे मेरे सिर में गहरा घाव हो गया। उसके बाद तीनों पीडिता को पकड़कर तलैया से पहाड़िया की ओर ले गए। वहां स्वरूपा और दशरत गुर्जर ने मेरे हाथ पैर पकड़ लिए और रामेश्वर गुर्जर ने बलात्कार किया।

उसके बाद आरोपी जशरथ ने रेप की बारदात को अंजाम दिया। पीडिता का आरोप है कि उसकी चीख सुनकर पास का टुंडा और तीन चार लोग आ गये, जिन्हे देखकर तीनों मुझे नग्न अवस्था में ही छोड़कर जान से मारने की धमकी देकर भाग गए।

डर के मारे पीडिता रात भर झाड़ियों के पीछे छुपकर बैठी रही ,सुबह मैं मुडखेड़ा गांव में अपने देवर राजेंद्र आदिवासी के घर पहुंची। उसके बाद पीडिता शिवपुरी में संजय बेचैन के यहां पहुंची और उन्हें इस घटना की जानकारी दी।

जिसपर संजय बैचेन पीडिता को लेकर पुलिस अधीक्षक के पास पहुंचे। जहां एसपी ने मामले की गंभीरता को समझते हुए तत्काल आरोपीयों के खिलाफ मामला दर्ज करने का आदेश दिया। जिसपर पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

कहानी में पेंच: पीड़िता के अनुसार उसकी चीख सुनकर तीन चार लोगों के आने पर आरोपी भाग गए और वह डर के मारे रातभर झाड़ियों में पड़ी रही, जबकि उसकी रक्षा करने आए तीन चार लोगों की मौजूदगी में और आरोपियों के भाग जाने पर उसे छिपने की क्या जरूरत थी। महिला का ऐसा बयान संदेह पैदा करता है।

-सम्पर्क:  RapazNews

[] आपको यह खबर कैसी लगी, कृपया नीचे कमेंट बॉक्स में अपनी राय बताऐं. [] देश – दुनियां की ऐसी ही खबरों / वीडियो से हमेशा अपडेट रहने के लिए कृपया यहां दिख रहा Allow या Follow का बटन दवाऐं अथवा लाल घंटी बजाऐं. धन्यवाद. सम्पर्क: रापाज न्यूज

loading...
News Reporter
इस वेबसाइट के लगभग सभी आलेख व खबरें Dailyhunt, Google News, NewsDog, NewsPoint एवं UC News पर भी उपलब्ध हैं. ज्यादातर चित्र सांकेतिक रहते हैं तथा इंटरनेट के उपयोग किए जाते हैं, इसलिए किसी कॉपीराइट का दावा नहीं है. सम्पर्क: Mob : 91-9993069079 WhatsApp : 91-7974827087 E-Mail : rapaznewsco@gmail.com
loading...
loading...
Join Group