करंट लगने से हो गयी थी श्रमिक पिता की मौत,

करंट लगने से हो गयी थी श्रमिक पिता की मौत,

बलौदाबाजार. एक मजदूर की आकस्मिक मृत्यु के बाद अनाथ हुई उसकी दोनों बच्चियों का भविष्य अब सुरक्षित हो गया है। जिला प्रशासन पहल और श्री सीमेंट कम्पनी की सकारात्मकता के चलते ग्राम ढनढनी निवासी गुमान रजक की बेटियों ऐश्वर्या रजक (04 वर्ष) और खुशबू रजक (07 माह) के नाम से श्री सीमेंट द्वारा दस-दस लाख रूपए की एफ.डी. कराई गई। साथ ही कर्मचारी राज्य बीमा निगम की योजना के तहत मृतक की पत्नी को आजीवन…

Read More

धनवर्षा के लालच में महिला ने खास पूजा के लिए जब तांत्रिक के कहने पर उतारे कपड़े

धनवर्षा के लालच में महिला ने खास पूजा के लिए जब तांत्रिक के कहने पर उतारे कपड़े

उज्जैन. क्षिप्रा नदी के तट पर बसा उज्जैन महाकाल की नगरी के लिए पूरी दुनियां में जाना जाता है. ऐसे में यहां साधु, संतों व तांत्रिकों आदि का होना स्वाभाविक है. किंतु, इनके बीच में कुछ ढोंगी व अपराधी किस्म के लोग भी शामिल हैं. यह मामला भी एक ऐसे ही तांत्रिक वेषी अपराधी से सम्बंधित है. जानकारी के अनुसार अपने घर में धन की बरसात कराने के लालच में श्रीकृष्ण नगर निवासी एक महिला…

Read More

चुनावी तनाव से मुक्त नजर आए अशोक, क्या है राज

चुनावी तनाव से मुक्त नजर आए अशोक, क्या है राज

ग्वालियर. कांग्रेस से लोकसभा प्रत्याशी अशोक सिंह मतदान से पहले ही चुनावी तनाव से मुक्त हो चुके नजर आ रहे हैं। शुक्रवार की सायं चुनावी शोरगुल थमते ही वह पिछले तीन-चार सप्ताह से चल रहे कड़े संघर्ष के वाबजूद, शुक्रवार की सुबह पूर्णत: तनाव मुक्त और सहज – सामान्य प्रतीत हुए। न ही चेहरे पर थकान के लक्षण और न चुनावी परिणाम की चिंता। समझा जा सकता है कि, चुनाव के प्रति संभवत: उनकी सोच…

Read More

तुम्हारे घरों में गुंडे घुसा दूंगी और कुत्तों की मौत मारूंगी- चुनाव मैदान में महिला IPS की धमकी

तुम्हारे घरों में गुंडे घुसा दूंगी और कुत्तों की मौत मारूंगी- चुनाव मैदान में महिला IPS की धमकी

सीआईडी छापा पड़ा तो फरार हो गई आईपीएस भारती. पूरे देश में पुलिस खोज रही थी. अचानक बीजेपी टिकट लेकर सामने आई. कभी ममता की करीबी थीं तो अब भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय की.

Read More

ड्रेसिंग स्टाइल के मामले में ये राजनेता हैं सबसे खास

ड्रेसिंग स्टाइल के मामले में ये राजनेता हैं सबसे खास

प्रसंगवश: राकेश पाठकहमारे देश के प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपना बचपन चाहे अभावों में चाय बेचकर गुजारा करते हुए गुजारा हो लेकिन आज वह मेकअप व ड्रेसिंग स्टाइल के मामले में किसी फिल्म स्टार या मॉडल से कम नहीं लगते. इस भीषण गर्मी के मौसम में भी उनके चेहरे पर कभी पसीना या धूल के कण नजर नहीं आते. वह ज्यादातर शानदार – महंगे सूट में नजर आते हैं. खबरों की मानें तो उनके…

Read More

टारगेट थे CM कमलनाथ के करीबी, 10 करोड़ मिले BJP नेता और हवाला कारोबारी से

टारगेट थे CM कमलनाथ के करीबी, 10 करोड़ मिले BJP नेता और हवाला कारोबारी से

भोपाल / रापाज न्यूज रविवार से यह खबर सुर्खियों में है कि, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री निज सचिव, सलाहकार और भांजे के साथ-साथ निज सचिव से जुड़े कुछ लोगों के यहां दिल्ली से निकली आयकर विभाग की टीमों ने छापेमारी कर करोड़ों रुपए का कालाधन बरामद किया है। खबरों के मुताबिक आईटी के 300 से 500 अधिकारियों की टीम ने एक साथ दिल्ली, भोपाल, इंदौर और गोवा में करीबन 50 ठिकानों पर छापेमारी की, जिसमें…

Read More

क्या है संवत्सर और आपके लिए क्या होगा इसका फल

क्या है संवत्सर और आपके लिए क्या होगा इसका फल

प्रसंगवश: राकेश पाठक आज हम यानि भारतीय दुनियां में सबसे पहले 21वींं सदी के 76वें साल में प्रविष्ट हो गए जबकि, बाकी दुनियां 19वें साल में ही चल रही है यानि हमसे 57 साल (आधी सदी से भी ज्यादा) पीछे चल रही है। यह हमारे लिए, सम्पूर्ण भारतवर्ष के लिए गर्व और गौरव का विषय है। हम जानते ही हैं कि, आज से 21-22 सदी पूर्व उज्जयिनी (उज्जैन मप्र) के राजा विक्रमादित्य ने चैत्र मास…

Read More

बॉलीवुड चर्चा; कैसा है रिश्ता- सारा अली और सुशांत सिंह का, प्यार या केवल जिस्मानी

बॉलीवुड चर्चा; कैसा है रिश्ता- सारा अली और सुशांत सिंह का, प्यार या केवल जिस्मानी

बॉलीवुड एक रहस्यों का मायाजाल है जो हमेशा एक नया सच को बेनकाब करने के लिए तैयार रहता है। बात चाहे वेश्यावृत्ति की हो या पैसे लेकर सोशल मीडियापर किसी विशेष राजनितिक संगठन की वाह वाही करना हो, बी-टाउन की दुनिया की नैतिकता हमेशा दांव पर होती है। पर Welike पर आयी नयी खबर आग की तरह सोशल मीडिया पर फेल गयी है, जिसने बॉलीवुड के नैतिक मूल्यों पर सवाल उठा दिया है । क्यों…

Read More

चुनाव में खूबसूरत नजारा; कांग्रेस की महिला प्रत्याशी को देखते ही भाजपा प्रत्याशी पहुंचे सामने और….

चुनाव में खूबसूरत नजारा; कांग्रेस की महिला प्रत्याशी को देखते ही भाजपा प्रत्याशी पहुंचे सामने और….

रायपुर। रापाज न्यूजसाल 1980 के चुनाव से पहले की चुनावी घटनाओं पर नजर डालें तो पता चलता है कि देशभर में तत्कालीन दोनों बड़े दलों कांग्रेस व जनसंघ के नेता और उम्मीदवार वास्तव में जनसेवक ही थे। चुनाव तो लड़ते थे, लेकिन निजी तौर पर कभी नहीं लड़ते थे। आमना – सामना होने पर यथोचित रूप से परस्पर सम्मान देते थे। चुनाव बाद विकास और जनसेवा के लिए एक दूसरे का सहयोग भी करते थे।…

Read More